Covid-19 Update

2,27,195
मामले (हिमाचल)
2,22,513
मरीज ठीक हुए
3,831
मौत
34,596,776
मामले (भारत)
263,226,798
मामले (दुनिया)

हिमाचल में “पंगा गर्ल” का विरोध जारी, एनएसआईयू ने जलाया पुतला, बोले-पद्मश्री के लायक नहीं

एनएसयूआई ने कहा कंगना रनौत जैसी मानसिकता के लोगों को नहीं देना चाहिए इतना बड़ा सम्मान

हिमाचल में “पंगा गर्ल” का विरोध जारी, एनएसआईयू ने जलाया पुतला, बोले-पद्मश्री के लायक नहीं

- Advertisement -

मंडी/मनाली। हिमाचल प्रदेश के जिली मंडी में एनएसयूआई (NSUI) ने अभिनेत्री कंगना रनौत का पुतला जलाया और जमकर नारेबाजी की। कंगना रनौत के द्वारा आजादी को लेकर दिए गए विवादित बयान से भड़के एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को मंडी शहर के चौहट्टा बाजार में विरोध प्रदर्शन किया। एनएसयूआई ने पीएम नरेंद्र मोदी से कंगना रनौत का पद्मश्री अवार्ड वापिस लेने का आग्रह किया है।

ये भी पढ़ें-कंगना ने देशभक्तों की कुर्बानियों का उड़ाया मजाक, पद्मश्री वापिस ले सरकार

एनएसयूआई के जिला महासचिव हरविंदर कुमार ने कहा कि देश की आजादी में हजारों की संख्या में फौजी शहीद हुए हैं। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत जो की मंडी जिला से ही संबंध रखती है उसके द्वारा देश की आजादी को भीख में मिलना कहना बहुत ही शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि कंगना रनौत को अपनी फिल्मी दुनिया में ध्यान देना चाहिए और ऐसे विवादित बयान देकर देश का माहौल खराब नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि कंगना रनौत को अपने दिए गए बयान पर
माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कंगना रनौत जिस मानसिकता का शिकार है ऐसे लोगों को इतना बड़ा सम्मान नहीं देना चाहिए। वह इस लायक नहीं है।

वहीं, एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने मनाली घर के बाहर धरना-प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने कंगना के घर के बाहर फूल लगाकर उनके बयान की शांति का संदेश देते हुए निंदा की। एनएसयूआई के राष्ट्रीय सह संयोजक अजित शर्मा, कुल्लू इकाई महासचिव चिराग धीमान और जिला महासचिव सौरव शर्मा ने कहा कि हम देश का अपमान सहन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि किसी को भी आजादी की लड़ाई या फिर स्वतंत्रता सेनानियों पर नकारात्मक टिप्पणी करने का हक नहीं है। कंगना
के बयान के पूरी तरह से गलत है। कार्यकर्ताओं ने कंगना से पद्मश्री वापिस लेने की मांग की मांग की है।

बता दें कि पद्मश्री मिलने के बाद हाल ही में जारी बयान में अभिनेत्री कंगना रनौत ने कहा कि असली आजादी 1947 में नहीं बल्कि 2014 में मिली है, जिससे कि संदेश साफ है कि बीजेपी सरकार आने के बाद इस देश ने आजादी की सांस ली है।\

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है