Covid-19 Update

2,16,639
मामले (हिमाचल)
2,11,412
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,392,486
मामले (भारत)
228,078,110
मामले (दुनिया)

एचपीयू में बवालः वीसी का घेराव करने पहुंचे एनएसयूआई कार्यकर्ताओं और पुलिस में धक्कामुक्की

प्रदेश भर से सैंकड़ों की संख्या में पहुंचे छात्रों ने लगाया वीसी पर मनमानी का आरोप

एचपीयू में बवालः वीसी का घेराव करने पहुंचे एनएसयूआई कार्यकर्ताओं और पुलिस में धक्कामुक्की

- Advertisement -

शिमला। एचपीयू( HPU) में वीसी के घेराव करने के लिए पहुंचे एसएसयूआई ( NSUI)कार्यकर्ताओं और पुलिस क्यूआरटी फोर्स ने जमकर धक्का-मुक्की हुई। छात्र वीसी ऑफिस( VC Office) के अंदर घुसने का प्रयास कर रहे थे और पुलिस और क्यूआरटी फोर्स उन्हें रोक रही थी। करीब आधे घंटे तक वीसी आफिस के बार खासा बवाल मचा रहा। इसके बाद कार्यकर्ता वीसी ऑफिस के बाहर धरने पर बैठ गए प्रदेश भर से सैंकड़ों की संख्या में एनएसयूआई कार्यकर्ता एचपीयू में मौजूद है।

यह भी पढ़ें: एचपीयू पहुंचने पर सीएम जयराम का कुछ इस तरह हुआ विरोध, एसएफआई ने लगाए नारे

 

 

प्रदेश में उच्च शिक्षण संस्थानों के भगवाकरण के खिलाफ और उच्च शिक्षा की गुणवत्ता को बचाने व विवि एवं कॉलेज छात्रों की विभिन्न मांगों को मनवाने के लिए एनएसयूआई के छात्र क्रर्मिक अनशन पर थे। उन्होंने अपनी मांगें मनवाने के लिए आज तक का अल्टीमेटम दे रखा था। लेकिन जब उनकी मांगे नहीं मानी गई तो वे वीसी का घेराव करने उनके ऑफिस पहुंच गए। एचपीयू प्रशासन की ओर से वहां पर भारी संख्या में पुलिस और क्यूआरटी फोर्स को तैनात कर रखा था। छात्र जब अंदर जाने लगे तो पुलिस और क्यूआरटी फोर्स उन्हें रोका इस दौरान दोनों पक्षों में खूब धक्का मुक्की हुई और इसके बाद छात्र वहीं पर धरने पर बैठ गए। छात्र नेताओं ने छात्रों को संबोधित किया और एचपीयू के वीसी पर मनमानी करने के आरोप लगाए। एसपीयू में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। एनएसयूआई का आरोप है कि प्रदेश सरकार ने पहले ही एक अयोग्य व्यक्ति को यूनिवर्सिटी का कुलपति बनाया है और अब सेवा विस्तार दे दिया गया है। एनएसयूआई ने आरोप लगाया कि एचपीयू प्रशासन अभी तक 2015 के छात्रों के लिए रिएसेसमेंट की प्रक्रिया को पूरा नहीं कर पाया है।इसके अलावा यूनिवर्सिटी में आरएसएस के लोगों की बैक डोर एंट्री भी वीसी करवा रहे हैं जो बेरोजगारों के साथ खिलवाड़ है।एचपीयू प्रशासन छात्रों के पेपर भी आउटसोर्स पर चेक किए जा रहे हैं।छात्रों के मुद्दों को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन गंभीर नहीं है इसलिए मजबूरन आज यूनिवर्सिटी का घेराव किया गया है

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है