×

2021 हरिद्वार कुंभ में सीमित होगी श्रद्धालुओं की संख्या, जारी होंगे पास: CM रावत

इतिहास में यह पहली बार होगा जब कुंभ मेला के लिए पास जारी होंगे

2021 हरिद्वार कुंभ में सीमित होगी श्रद्धालुओं की संख्या, जारी होंगे पास: CM रावत

- Advertisement -

देहरादून। उत्तराखंड (Uttrakhand) के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 2021 हरिद्वार कुंभ (2021 Haridwar Kumbh) को लेकर कहा है, ‘कोविड-19 (Covid-19) महामारी के चलते लोगों की संख्या सीमित रहेगी और श्रद्धालुओं के लिए पास जारी किए जाएंगे।’ बतौर रावत, उन्होंने संतों से इस मामले पर चर्चा की थी और वे सहमत थे। इतिहास में यह पहली बार होगा जब कुंभ मेला के लिए पास जारी होंगे। कोरोना संक्रमण से उपजे हालातों को देखते हुए संख्यात्मक लिहाज से यह निंयत्रित होगा। सीएम रावत ने कहा कि कुंभ का आयोजन तय समय पर ही होगा, लेकिन उस वक्त की परिस्थितियों को देखते हुए कुंभ के स्वरूप पर फैसला होगा। आपको बता दें कि अगले साल हरिद्वार में कुंभ का आयोजन होना है।


सभी धार्मिक परंपराओं का पालन करते हुए बेहतर ढंग से किया जाएगा आयोजन

प्रदेश सीएम ने आगे यह भी कहा कि फिलहाल, राज्य में फिलहाल लॉकडाउन की कोई योजना नहीं है। केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक प्रदेश में कदम बढ़ाए जा रहे हैं। कोरोना टेस्टिंग की भी संख्या बढ़ाई गई है। अगर कहीं कोरोना के केस बढ़ रहे हैं तो वहां सरकार कंटेनमेंट जोन बना सकती है। उन्होंने कहा कि राज्य में तमाम अस्पतालों में वेंटिलेटर की व्यवस्था की गई है। सरकार के पास 200 अतिरिक्त वेंटिलेटर हैं, जिन्हें निजी अस्पतालों को दिया जाएगा। सीएम ने यह जानकारी भी दी कि कोविड केयर सेंटरों में भी ऑक्सीजन बेड की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें: Bilaspur-Leh रेललाइन के अंतिम सर्वेक्षण के लिए Mandi पहुंची टीम, हेलीकॉप्टर से हो रहा सर्वेक्षण

इससे पहले भी सीएम ने कुंभ के बारे में बात करते हुए कहा था कि संत-महात्माओं के सहयोग से कुंभ का आयोजन सभी धार्मिक परंपराओं का पालन करते हुए बेहतर ढंग से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कुंभ मेले के मद्देनजर आवश्यक आधारभूत ढांचा और सुविधाओं की पुख्ता व्यवस्थाएं तय समय पर सुनिश्चित कर ली जाएं। उन्होंने कहा कि कुंभ मेले की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करने के लिए जहां जरूरी हो, वहां दूसरे राज्यों से भी आवश्यक सहयोग लिया जाना चाहिए। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को समन्वय स्थापित करने के निर्देश भी उन्होंने दिए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whatsapp Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है