Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,594,803
मामले (भारत)
231,514,397
मामले (दुनिया)

सेब की कीमतों पर सियासतः कांग्रेस का रिज पर मौन प्रदर्शन, विधेयक की मांग

A ग्रेड के सेब के अलावा अन्य ग्रेड के सेब का न्यूनतम दाम तय करने की भी मांग

सेब की कीमतों पर सियासतः कांग्रेस का रिज पर मौन प्रदर्शन, विधेयक की मांग

- Advertisement -

शिमला। सेब के गिरते दामों पर सियासत अभी भी जारी है। कांग्रेस पार्टी जयराम सरकार( Jairam Govt) पर लगातार हमला कर रही है। शिमला के रिज( Ridge) पर आज महात्मा गांधी के प्रतिमा के नीचे राजीव गांधी पंचायती राज संगठन( Rajiv Gandhi Panchayati Raj Organization) से जुड़े पदाधिकारियों ने मौन प्रदर्शन किया।संगठन के प्रदेश संयोजक दीपक राठौर ने कहा की राजीव गांधी पंचायती राज संगठन समय-समय पर प्रदेश से जुड़े ज्वलंत मुद्दों को उठाता रहता है। वर्तमान समय की बात करें तो प्रदेश की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देने वाली सेब की आर्थिकी ख़तरे में है और बागवान चिंतित है क्योंकि सेब के दाम प्रदेश की मंडियों में धड़ल्ले से गिर रहे हैं।ऐसे में संगठन ने प्रदेश सरकार से हिमाचल में सेब पर विधेयक( Bill on apple) लाने की माँग की है और उसी पर राज्यपाल के माध्यम से सरकार को ज्ञापन सौंपा है।

ये भी पढ़ेः हिमाचलः अभी भी बहाल नहीं हुआ ज्यूरी में नेशनल हाइवे, पहाड़ी से गिर रहे पत्थर

दीपक राठौर ने कहा कि ज्ञापन के माध्यम से विधेयक को लेकर उन्होंने सरकार को सुझाव भी दिए हैं। उन्होंने विधेयक में इकोनोमिक ऑफिस विंग बनाने की मांग की है, जिससे ये मालूम हो सके कि कौन से लदानी हिमाचल में आकर काम कर सकते हैं और उनका बैंक बैलेंस कितना है। इसके पीछे कारण यह है कि अभी भी 100 करोड़ के लगभग पैसा लदानियों और आढ़तियों के पास बाग़वानों का फ़सा हुआ है। इनमें अधिकतर बागवान वो हैं, जिनकी सेब की पेटियां बहुत कम होती है और उनकी रोजी रोटी इसी पर निर्भर है। अब आढ़ती उन्हें पैसे नहीं दे रहे हैं और पैसे लटके हुए हैं। ऐसे में विंग के माध्यम से उनपर शिकंजा कसा जा सकता है । उन्होंने विधेयक में A ग्रेड के सेब के इलावा अन्य ग्रेड के सेब का न्यूनतम दाम तय करने की भी मांग की है।उन्होंने पंचायतों में 73 वां व 74 वां संशोधन लागू करने की भी मांग की है ताकि पंचायतों के पास बजट का पैसा सीधा आ सकें और वो अपने स्तर पर कोल्ड स्टोर व फ़्रूट प्रोसेसिंग यूनिट बना सकें।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है