Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,380,438
मामले (भारत)
227,512,079
मामले (दुनिया)

Himachal में खुल सकते हैं 20 से कम छात्र संख्या वाले School, क्या बोले शिक्षा मंत्री-जानिए

Himachal में खुल सकते हैं 20 से कम छात्र संख्या वाले School, क्या बोले शिक्षा मंत्री-जानिए

- Advertisement -

शिमला। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि 31 मई तक स्कूल (School) और कॉलेज के खुलने की संभावना नहीं है। स्कूलों का खोलना पब्लिक ट्रांसपोर्ट के साथ जुड़ा है। हिमाचल (Himachal) में कुछ प्राइमरी स्कूल ऐसे हैं, जोकि डेढ़ से दो किलोमीटर दूरी पर हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी प्लानिंग भी है, 20 से कम छात्र संख्या वाले स्कूलों को सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के मापदंड़ों की पालना के साथ शिक्षा के लिए खोल दिया जाए। इससे उपर संख्या वाले स्कूल जब भी खोले जाएं तब सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की पालना के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाए। एक दिन आधा कक्षाओं और दूसरे दिन आधी कक्षाओं की पढ़ाई हो। अगर संख्या और भी ज्यादा होती है तो दो शिफ्ट में भी पढ़ाई शुरू की जा सकती है। मार्निंग और इवनिंग शिफ्ट में पढ़ाई हो। इसके अलावा फिजिकल कंटेक्ट (Physical Contact) की खेले ना होकर बैडमिंटन, टेबल टेनिंग आदि की खेलें हों। उन्होंने कहा कि इस बाबत पिछले कल हुई कैबिनेट (Cabinet) की बैठक में भी चर्चा हुई है। लॉकडाउन चार से पहले कोई निर्णय ले लिया जाएगा।

गस्त या सितंबर पहले हफ्ते में कॉलेज का सत्र शुरू करने की कोशिश

 

शिक्षा मंत्री ने कहा कि अगस्त या सितंबर पहले हफ्ते में कॉलेज का सत्र शुरू करने की कोशिश होगी। उन्होंने कहा कि कोशिश यह रहेगी, शैक्षणिक सत्र बढ़ाना ना पड़े। अगर लॉकडाउन (Lockdown) लंबा चलता है तो शैक्षणिक सत्र बढ़ाने पर भी विचार किया जा सकता है। निजी स्कूलों की फीस को लेकर उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का भी आह्वान है कि किसी को भी नौकरी से ना निकाला जाए। सेलरी ना रोकी जाए। निजी स्कूल संचालक भी ऑनलाइन शिक्षा करवा रहे हैं। सरकार की कोशिश है कि उन्हें फीस के रूप में कुछ राहत मिले। दूसरी तरफ अभिभावकों के भी सुझाव आए हैं। निजी स्कूल प्रबंधन और अभिभावकों के सुझावों का समन्वय करके कोई निर्णय लिया जाएगा। लॉकडाउन चार से पहले निर्णय लिया जा सकता है। सीएम जयराम ठाकुर को भी इस बारे अवगत करवा दिया गया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है