Covid-19 Update

3,12, 174
मामले (हिमाचल)
3, 07, 798
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44, 579, 088
मामले (भारत)
621, 406, 269
मामले (दुनिया)

आराम से सोने वाले लोगों को मिलेंगे पैसे, बस करनी होगी नींद पूरी

इच्छुक उम्मीदवार 11 अगस्त तक कर सकते हैं आवेदन

आराम से सोने वाले लोगों को मिलेंगे पैसे, बस करनी होगी नींद पूरी

- Advertisement -

बिस्तर पर लेटे रहने, आलसी या सोना पसंद करने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है। दरअसल, अमेरिका (America) के न्यूयॉर्क के बाहर स्थित एक मैट्रेस कंपनी पेशेवर नैपर की तलाश कर रही है, जो कि बेड पर लेटते ही सो जाए। कंपनी को ऐसे शख्स की तलाश है जो सोने में काफी माहिर हो और अपने अनुभव को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर सके।

ये भी पढ़ें-आलसी और दुखी लोगों के लिए निकली नौकरी, रखी गई है ऐसी शर्त, विज्ञापन हुआ वायरल

बता दें कि इस नौकरी के लिए इच्छुक उम्मीदवार 11 अगस्त, 2022 तक आवेदन कर सकते हैं। जानकारी के अनुसार, इस जॉब के इच्छुक उम्मीदवार के पास एक्सिलेंस स्लीपिंग स्किल, जितना संभव हो सके सोने की इच्छा और किसी भी चीज के माध्यम से सोने की क्षमता होनी चाहिए। इस पद के लिए चयनित उम्मीदवार को नींद (Sleep) आनी चाहिए, जो स्टोर में भी सो सके और अन्य किसी भी स्थिति में सो सके। वहीं, अगर किसी को नींद आने में परेशानी हो तो वे कैस्पर सोशल मीडिया चैनल पर टिक टॉक स्टाइल में कंटेंट बनाकर अपने अनुभव दूसरों के साथ साझा करें।
इसके लिए उम्मीदवार को ऑफिस में पजामा पहनने की अनुमति भी होगी। इसके अलावा उम्मीदवार को कंपनी के प्रोडक्ट मिलेंगे और पार्ट टाइम समय के लिए काम करने में सक्षम होंगे। इन सोने के इच्छुक उम्मीदवारों को आवेदन के हिस्से के रूप में टिक टॉक पर अपनी नींद की क्षमताओं का प्रदर्शन करने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है