Covid-19 Update

2,22,890
मामले (हिमाचल)
2,17,495
मरीज ठीक हुए
3,721
मौत
34,200,957
मामले (भारत)
244,634,716
मामले (दुनिया)

स्पीकर विपिन परमार बोले- ‘तपोवन में पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलन, पीएम मोदी को करेंगे आमंत्रित’

देश के विभिन्न राज्यों से करीब दो सौ प्रतिनिधि लेंगे भाग

स्पीकर विपिन परमार बोले- ‘तपोवन में पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलन, पीएम मोदी को करेंगे आमंत्रित’

- Advertisement -

धर्मशाला। देशभर के पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलन धर्मशाला के तपोवन विधानसभा परिसर (Tapovan Assembly) में नवंबर माह में आयोजित किया जाएगा। यह जानकारी विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार (Vipin Singh Parmar) ने विधानसभा परिसर के सभागार में पीठासीन अधिकारियों के सम्मेलन की तैयारियों को लेकर आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन में देशभर की विधानसभाओं, विधान परिषदों के करीब दो सौ प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे।

यह भी पढ़ें:ब्रेकिंगः हिमाचल में उपचुनावों का शेडयूल जारी, 30 अक्टूबर को डाले जाएंगे वोट

पहला सम्मेलन शिमला में हुआ था

विधानसभा अध्यक्ष विपिन सिंह परमार ने कहा कि पीठासीन अधिकारियों की पहला सम्मेलन भी हिमाचल प्रदेश में 1921 में शिमला (Shimla) में आयोजित किया गया था। अब शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य पर भी हिमाचल के धर्मशाला के तपोवन में पीठासीन अधिकारियों का सम्मेलन भव्य तरीके से आयोजित किया जाएगा। इससे पहले पीठासीन अधिकारियों के छह सम्मेलन हिमाचल में आयोजित किए जा चुके हैं, जबकि धर्मशाला के तपोवन विधानसभा परिसर में पीठासीन अधिकारियों का यह पहला सम्मेलन होगा।

पीएम और उपराष्ट्रपति के आने की संभावना

उन्होंने कहा कि लोकसभा और विधानसभा के संयुक्त तत्वाधान में यह सम्मेलन आयोजित किया जाएगा इस सम्मेलन की अध्यक्षता लोकसभा के स्पीकर करेंगे। उन्होंने कहा कि लोकसभा स्पीकर के माध्यम से उपराष्ट्रपति और पीएम नरेंद्र मोदी को भी इस सम्मेलन के लिए आमंत्रित करने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि सम्मेलन को सफल बनाने के लिए सभी विभागों के अधिकारियों को अपने-अपने विभागों के संबंधित कार्यों को निर्धारित समय पर पूरा करना होगा। इसके साथ ही सम्मेलन के दौरान सुरक्षा इत्यादि की व्यवस्था को भी चाक चौबंद करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं।

सांस्कृतिक कार्यक्रम का होगा आयोजन

उन्होंने कहा कि इस दौरान सम्मेलन में आने वाले सभी प्रतिनिधियों को हिमाचल की सांस्कृतिक झलक भी लोक नृत्य तथा लोक संगीत के माध्यम से दिखाई जाएगी। वहीं, सांस्कृतिक संध्या भी आयोजित की जाएगी। इसके साथ ही प्रतिनिधियों को कांगड़ा जिला के प्रमुख ऐतिहासिक तथा धार्मिक स्थलों का भ्रमण भी सुनिश्चित किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है