Covid-19 Update

2,17,403
मामले (हिमाचल)
2,12,033
मरीज ठीक हुए
3,639
मौत
33,529,986
मामले (भारत)
230,045,673
मामले (दुनिया)

सांप से भी ज्यादा जहरीला है ये पौधा, छूने भर से जा सकती है जान

पौधे से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए नहीं बन पाई कोई सटीक दवा

सांप से भी ज्यादा जहरीला है ये पौधा, छूने भर से जा सकती है जान

- Advertisement -

हमारे पर्यावरण के लिए पेड़-पौधे कितने महत्वपूर्ण हैं ये तो सभी जानते हैं इसलिए लोग अपने घरों के आसपास हरियाली लाने के लिए भी पेड़-पौधे लगाते हैं। यूं तो पेड़-पौधे हमें कई तरह से फायदे पहुंचाते हैं, लेकिन कुछ पेड़-पौधे हमारे लिए काफी खतरनाक होते हैं। इन्हीं में से एक है जाइंट होगवीड, जो किलर ट्री (Killer tree) के नाम से भी जाना जाता है। गाजर की प्रजाति वाले इस पौधे का वैज्ञानिक नाम हेरकिलम मेंटागेजिएनम है। ये पौधा इतना जहरीला है कि इसे छूने भर से हाथों पर फफोले पड़ जाएंगे।

यह भी पढ़ें: #AirtelUsers की बल्ले-बल्ले : Kurkure-Lay’s के पैकेट खरीदो और पाओ 2GB डाटा फ्री

वैसे तो यह पौधा (Plant) देखने में इतना सुंदर लगता है कि अधिकांश लोगों का मन इसे छूने के लिए ललचा जाता है। इसे छूने के बाद ही 48 घंटे के अंदर इसके दुष्प्रभाव शरीर पर दिखने लगते हैं। वैज्ञानिको का मानना है कि यह पौधा सांप से भी ज्यादा जहरीला होता है। अगर आपने कभी इस पेड़ को स्पर्श कर दिया तो कुछ ही घंटों में आपको महसूस होगा कि आपकी पूरी त्वचा जलने लगी है। बता दें कि इस किलर ट्री की लंबाई अधिकतम 14 फीट तक होती है। ये पौधा ज्यादातर न्यूयार्क, पेंनसेल्वेनिया, ओहियो, मेरीलैण्ड, वाशिंगटन, मिशिगन और हेंपशायर में पाया जाता है।

ऑक्सीजन और कार्बन डाइऑक्साइड को बैलेंस करने में अहम भूमिका

इस पौधे को लेकर डॉक्टर्स (Doctors) का कहना है कि यदि कोई इस पौधे को स्पर्श कर ले तो उसकी आंखों की रोशनी जाने का खतरा भी बढ़ जाता है। अभी तक इस पौधे से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए कोई सटीक दवा भी नहीं बन पाई है। जाइंट होगवीड के जहरीले होने का कारण है इसके अंदर पाए जाना वाला सेंसआइजिंग फूरानोकौमारिंस नामक रसायन, जो इसे खतरनाक बनाती है, लेकिन इस पौधे की सबसे बड़ी खासियत यह है कि ये वातावरण में ऑक्सीजन और कार्बन डाइऑक्साइड (Oxygen and carbon dioxide) को बैलेंस करने में अपनी अहम भूमिका निभाता हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है