Covid-19 Update

2,21,203
मामले (हिमाचल)
2,16,124
मरीज ठीक हुए
3,701
मौत
34,043,758
मामले (भारत)
240,610,733
मामले (दुनिया)

अंगुलियां चटकाने पर क्यों आती है आवाज, क्या आपने कभी सोचा – पढ़ें व देखें Video रपट

गणित के तीन समीकरणों से पता लगाई जा सकती है इसकी वजह

अंगुलियां चटकाने पर क्यों आती है आवाज, क्या आपने कभी सोचा – पढ़ें व देखें Video रपट

- Advertisement -

हम सभी ने जिंदगी में अंगुलियों (Fingers) को चटका कर जरूर देखा होगा। अंगुलियों को चटकाने पर जो आवाज आती है वो मन (Mind) को अच्छी लगती है, लेकिन ये आवाज क्यों आती है, कभी आपने कभी सोचा। नहीं सोचा तो हम आपको बताने जा रहे हैं कि ये आवाज (Sound) क्यों आती है। बताते हैं कि अमेरिका और फ्रांस के शोधकर्ता कहते हैं कि इसकी वजह गणित के तीन समीकरणों से पता लगाई जा सकती है। उनकी मानें तो ये आवाज हड्डियों के जोड़ में मौजूद तरल पदार्थ में बुलबुले फूटने की वजह से आती है। हालांकि, अभी तक इस मसले को लेकर वर्षों से बहस से चली आ रही है।

यह भी पढ़ें: घोड़े पर सवार होकर स्कूल जाता है 5वीं का छात्र, सीएम शिवराज चौहान ने की तारीफ

पहले समीकरण के अनुसार जब हम अंगुलियों को चटकाते हैं तो हमारी हड्डियों के जोड़ों में अलग-अलग दबाव होता है।
जबकि दूसरे समीकरण के अनुसार अलग दबाव से बुलबुलों का साइज भी अलग ही होता है।
तीसरे समीकरण में अलग-अलग साइज वाले बुलबुलों को आवाज करने वाले बुलबुलों के साइज के साथ जोड़ा।
इन तीनों समीकरणों से एक पूरा गणित का मॉडल बन गया जोकि अंगुलियां चटकाने पर आने वाली आवाज के कारण के बारे में बताता है।

अंगुलियां चटकाने पर आवाज का कारण

जब हम अपनी अंगुलियां चटकाते हैं तो उस समय हम अपने जोड़ों को खींच रहे होते हैं और ऐसा करते समय दबाव कम होता है। बुलबुले तरल के रूप में होते हैं, जिसे साइनोवियल फ्लूइड कहा जाता है। अंगुलियां चटकाने पर जोड़ों का दबाव बदलता है और उससे बुलबुले भी तेजी से घटने और बढ़ने लगते हैं। इसी वजह से अंगुलियां चटकाने पर आवाज आती है।

इसके उलट है सिद्धांत

इस मॉडल से दो अलग और विपरीत सिद्धांतों में एक संबंध बनता हुआ दिखाई दे रहा है। बुलबुले फूटने से आवाज़ आने वाली बात सबसे पहले 1971 में सामने आई थी। इसके वर्षें बाद नए प्रयोगों के बाद इसे फिर से चुनौती दी गई जिसमें बताया गया है कि बुलबुले अंगुलियों चटकाने के काफी देर बाद भी फ्लूइड में बने रहते हैं। इस मॉडल पर विश्‍वास करें तो बुलबुलों के फूटने से ही आवाज आती है इ‍सलिए अंगुलियां चटकने के बाद भी छोटे बुलबुले तरल में बने रहते हैं।

साइंटिफिक रिपोटृर्स जनरल में प्रकाशित हुई इस स्‍टडी से पता चलता है कि बुलबुले फूटने से जो दबाव बनता है उससे वेव पैदा होती है जिसे गणित के समीकरणों द्वारा जाना और मापा जा सकता है। कुछ लोग अंगुलियां नहीं चटका पाते हैं और इसका कारण अंगुलियों के टखनों की हड्डियों में ज्‍यादा जगह होना है जिससे दबाव उतना नहीं बन पाता है जिससे की आवाज आ सके। क्या आप इससे कुछ समझ पाए कि क्यों अंगुलियां चटकाने पर आवाज आती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है