Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

Fact Check : तो क्या अब 100, 50 और पांच रुपये की होगी नोटबंदी! जानिए क्या है माजरा

Fact Check : तो क्या अब 100, 50 और पांच रुपये की होगी नोटबंदी! जानिए क्या है माजरा

- Advertisement -

नई दिल्ली सोशल मीडिया (Social Media) में तेजी से खबर फैल रही है कि मार्च के बाद से सरकार 100, 50 और पांच रुपये के नोटों को बंद (Note Banned) करने जा रही है। यानी कि मार्च के बाद ये नोट चलन में नहीं रहेंगे। इसे लेकर कई तरह की खबरें (News) भी फैल रही हैं। हालांकि सच क्या है और अगल नोटों को बंद भी किया जाता है तो लोगों को पर इसका कितना असर पड़ेगा इस बात पर बात करते हैं। आरबीआई (RBI) ने भी इस बाबत सफाई दी है। तो चलिए जानते हैं 50, 100 और पांच रुपये (Rupees) के नोटों की नोटबंदी (Note Bandi) का असल सच।

यह भी पढ़ें: Atal_Tunnel_Rohtang से लाहुल जा सकेंगे पेट्रोल-डीजल के टैंकर व एलपीजी वाहन, बस करना होगा ये काम

दरअसल 100 रुपये नोट बंद होने की खबर भ्रामक है। ऐसा इसलिए क्योंकि मंगलोर में आरबीआई के इश्यू विभाग के एजीएम ने डिस्ट्रिक्ट लेवल मीटिंग में कहा था कि बैंकों के पासे 100 रुपये के पुराने कटे-फटे नोट अगले महीने वापल लिए जाएंगे। इसी बात को कुछ मीडिया संस्थान ने गलत तरीके से पेश कर दिया। ऐसे में यह खबर आग की तरह फैल गई। अब आरबीआई के प्रवक्ता का कहना है कि ऐसा कुछ भी नहीं है।

आरबीआई के प्रवक्ता का कहना है कि मैले हो चुके नोटों को चलन से बाहर करना एक सामान्य प्रक्रिया है। जो नोट खराब हो जाता है उसे बैंक में जमा करवा दिया जाता है। फिर रिजर्व बैंक उन नोटों की जांच कर उन्हें चलन से बाहर कर देता है। ऐसे नोटों को बाद में नष्ट कर दिया जाता है और नए नोट चलन में लाए जाते हैं। पीआईबी फैक्ट चैक ने भी ऐसी खबरों को झूठी बताया है। पीआईबी भारत सरकार की नीतियों, कार्यक्रम पहल और उपलब्धियों के बारे में समाचार-पत्रों व इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया को सूचना देने वाली प्रमुख एजेंसी है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है