Covid-19 Update

1,99,197
मामले (हिमाचल)
1,91,732
मरीज ठीक हुए
3,394
मौत
29,627,763
मामले (भारत)
177,191,169
मामले (दुनिया)
×

यहां लगता है किताबों का लंगर, अपनी जरूरत के अनुसार ले सकते हैं Books

यहां लगता है किताबों का लंगर, अपनी जरूरत के अनुसार ले सकते हैं Books

- Advertisement -

फरीदकोट। पंजाब (Punjab)में लगने वाले खाने के लिए लंगर के बारे में तो आपने सुना ही होगा लेकिन, आप ने कभी किताबों के लंगर को बारे में सुना है। जी हां, पंजाब के फरीदकोट (Faridkot) में खाने के अलावा किताबों (Books)का लंगर भी लगता है। किताबों का यह लंगर भारत भर में चर्चा का विषय बना हुआ है। इस लंगर में स्कूली बच्चे अपनी पसंद की किताबें ले सकते हैं। इस लंगर को ‘तेरा-तेरा’ संस्था ने लगाया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

तेरा-तेरा’ संस्था ने इस ‘पेड़ बचाओ, पानी बचाओ’ और ‘कागज बचाओ’ के उद्देश्य से एक स्कूल के बाहर ये स्टॉल लगाया है जहां से स्कूली बच्चे अपनी जरूरत के अनुसार किताबें ले सकते हैं। इस लंगर में स्कूली बच्चों के लिए हर कक्षा की किताबें उपलब्ध हैं। ये किताबें संस्था के मेंबर पैसों से नहीं खरीदते बल्कि स्कूल के बच्चे किसी भी कक्षा से पास होकर अपनी पुरानी किताबों का सेट इस स्टॉल में जमा करवा जाते हैं और नई कक्षा का किताबों का सेट यहां से ले जाते है। यह स्टॉल यहां दूसरी बार लगाया गया है। जिसमें हजारों स्कूली बच्चे किताबों के एक्सचेंज का फायदा ले रहे हैं। किताबों के अलावा यहां एक और पहल की गई है जिसके तहत जिस बच्चे को उसकी स्कूल ड्रेस (School Dress) छोटी हो जाती है वह उसे यहां छोड़ जाता है ताकि उसे जरूरतमंद बच्चों के लिए उपयोग में लाया जा सके।


हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है