Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

पैदा होते हीअनोखी बीमारी की शिकार हुई बच्ची, डॉक्टरों के पास भी नहीं कोई इलाज

कभी भी कोई इंजेक्शन नहीं लगवा पाएगी बच्ची

पैदा होते हीअनोखी बीमारी की शिकार हुई बच्ची, डॉक्टरों के पास भी नहीं कोई इलाज

- Advertisement -

घर में जब बच्चे का जन्म होता है तो हर परिवार खुशियां मनाता है और यही दुआ करता है कि बच्चा स्वस्थ हो और आगे भी ऐसे ही रहे। कई बच्चे पैदा होते ही ऐसे बीमारी का शिकार हो जाते हैं जो हर किसी को हैरान करने वाली होती है। ऐसा ही कुछ हुआ ब्रिटेन (Britain) में पैदा हुई 6 महीने की बच्ची लैक्सी के साथ। लैक्सी को एक अजीबोगरीब बीमारी हो गई है। इस बीमारी की वजह से उसका शरीर पत्थर जैसा मजबूत होता जा रहा है।

यह भी पढ़ें: क्या नजारा है इस झील का, देखते ही किसी का भी दिल खुश हो जाए

बच्ची का जन्म 31 जनवरी, 2021 को ब्रिटेन में हुआ। पहले वह अन्य नॉर्मल बच्चों की तरह एक्टिविटी करती थी। माता-पिता को पहली बार बीमारी के बारे में तब शक हुआ जब उन्हें अपनी बच्ची का पैर बहुत सख्त लगा। वह तुरंत उसे डॉक्टर के पास ले गए तब डॉक्टर ने बताया कि बच्ची को Fibrodysplasia Ossificans Progressiva नाम की एक बीमारी है। ये जेनेटिक बीमारी है जिसमें शरीर में मांस कम होने लगता है और हड्डियां उसकी जगह लेने लगती हैं। अप्रैल में पहली बार एक्स-रे के दौरान पता चला कि मासूम के पैर उभरे हुए हैं और उसके पैर में दोगुनी उंगलियां हैं। डॉक्टर ने ये भी कहा कि बच्ची चल नहीं पाएगी। इसके बाद बच्ची के माता-पिता ने इस बीमारी के बारे में अन्य जगहों से जानकारी जुटाई और टेस्ट करवाए जिसके बाद कंफर्म हुआ कि बच्ची इसी बीमारी से पीड़ित है।


यह भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीनेशन से पहले कभी ना खाएं पेन किलर्स, कर सकती हैं बड़ा नुकसान

डॉक्टर ने बताया कि बीते 30 साल के करियर में उन्होंने इस बीमारी के बारे में ना ही देखा और सुना। इस बीमारी में हड्डियां स्केलेटन के बाहर भी विकसित होने लगती हैं फिर हड्डियां शरीर के अंदर मांस की जगह ले लेती हैं। इस बीमारी के कारण बच्ची कभी भी कोई इंजेक्शन नहीं लगवा पाएगी। इसके अलावा उसके दांत भी दूसरे बच्चों की तरह काम नहीं करेंगे। कान की हड्डी बढ़ने की वजह से बच्ची की सुनने की क्षमता भी जा सकती है। उसके हाथ-पैर भी नहीं हिलेंगे। सबसे दुख की बात ये है कि इस बीमारी का दुनियाभर में अभी तक कोई इलाज नहीं है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है