Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

श्राइन बोर्ड ने किया ऐलान: इस साल नहीं होंगे बाबा अमरनाथ की पवित्र गुफा के दर्शन, यात्रा रद्द

श्राइन बोर्ड ने किया ऐलान: इस साल नहीं होंगे बाबा अमरनाथ की पवित्र गुफा के दर्शन, यात्रा रद्द

- Advertisement -

जम्मू। इस साल होने वाली अमरनाथ यात्रा (Pilgrimage to Amarnaath) को आखिरकार रद्द ही कर दिया गया। अमरनाथ श्राइन बोर्ड (Amarnaath Shrine Board) ने इसकी घोषणा मंगलवार को कर दी। इसकी जानकारी जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के राजभवन ने मंगलवार शाम को दी। राजभवन के अनुसार, मौजूदा परिस्थितियों के आधार पर, श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड ने निर्णय लिया कि इस वर्ष की श्री अमरनाथ यात्रा को आयोजित करना और संचालन करना उचित नहीं है। ऐसे में अमरनाथ यात्रा 2020 रद्द किया जा रहा है। हालांकि अभी तक संभावना जताई जा रही थी कि इस साल यात्रा 21 जुलाई से शुरू होकर 3 अगस्त तक चलेगी। इस बीच शुक्रवार को यात्रा के लिए ‘प्रथम पूजा’ भी आयोजित की गई थी। ऐस में अचानक अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (एसएएसबी) के अधिकारियों ने यात्रा को रद्द करने की घोषणा कर दी।

श्राइन बोर्ड सुबह और शाम की आरती का सीधा प्रसारण / आभासी दर्शन जारी रखेगा

राजभवन की ओर से आगे बताया गया है कि धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखते हुए, श्राइन बोर्ड सुबह और शाम की आरती का सीधा प्रसारण / आभासी दर्शन जारी रखेगा। पारंपरिक अनुष्ठानों को पहले की ही तरह किया जाएगा। छडी मुबारक को सरकार की ओर से किया जाएगा। इससे पहले यात्रा पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका भी दायर की गई थी। याचिका अमरनाथ बर्फानी लंगर संगठन ने दायर की थी, जिसमें कहा गया था कि अमरनाथ यात्रा में सालाना 10 लाख से ज्यादा भक्त पहुंचते हैं। इतनी संख्या में लोगों के आने से कोरोना फैलने का खतरा बना रहेगा।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand: हर की पौड़ी पर टूटी आसमानी आफत, ट्रांसफार्मर समेत दीवारें ध्वस्त; देखें

अमरनाथ यात्रा के लिए हर साल अप्रैल के पहले सप्ताह से रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू होती है, हालांकि इस बार कोरोना महामारी के चलते प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई थी। साल 2000 में अमरनाथ श्राइन बोर्ड बनाया गया, जिसका चेयरमैन जम्मू कश्मीर के राज्यपाल या उपराज्यपाल होते हैं। बता दें कि अमरनाथ यात्रा शुरू करने को लेकर जोर-शोर से तैयारियां चल रही थीं। सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जा रहे थे। खबरें ये भी थीं कि इस बार सिर्फ बालटाल रूट से अमरनाथ यात्रा कराने की योजना बनाई जा रही है। हेलीकॉप्टर से यात्रा पर भी विचार किया जा रहा है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है