Covid-19 Update

2,67,577
मामले (हिमाचल)
2, 53, 840
मरीज ठीक हुए
3961*
मौत
40,622,709
मामले (भारत)
366,912,057
मामले (दुनिया)

सीएम जयराम बोले: पिछले 4 वर्षों में 1.54 लाख किसान परिवारों ने अपनाई प्राकृतिक खेती

हिमाचल में अगले एक साल में डेढ़ लाख किसानों को जोड़ने का रखा है लक्ष्य

सीएम जयराम बोले: पिछले 4 वर्षों में 1.54 लाख किसान परिवारों ने अपनाई प्राकृतिक खेती

- Advertisement -

शिमला। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को गुजरात के सरदार पटेल सभागार, अमूल, आन्नद में प्राकृतिक खेती (Natural Farming) विषय पर आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन को नई दिल्ली से वर्चुअल माध्यम से संबोधित किया। इस कार्यक्रम में सीएम जय राम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने भी शिमला से वर्चुअल माध्यम से भाग लिया। पीएम ने इस अवसर पर किसानों का आह्वान किया कि वे अपनी कृषि पैदावार को बढ़ाने तथा अपनी आय को दोगुना करने के लिए प्राकृतिक खेती को अपनाएं। उन्होंने कहा कि यद्धयपि देश की हरितक्रान्ति में उर्वरकों की महत्वपूर्ण भूमिका को नकारा नहीं जा सकता, लेकिन कीटनाशकों तथा आयातीत उर्वरकों से स्वास्थ्य को हो रहे नुकसान एवं बढ़ती लागत के लिए यह अनिर्वाय है कि किसान (Farmer) कोई वैकल्पिक तकनीक अपनाएं।

यह भी पढ़ें: विपक्ष के हल्ले के बीच लौटे सीएम जयराम ने एक-एक कर जो कहा, पढ़े डिटेल-देखें वीडियो

सीएम जयराम ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार (State Govt) ने वर्ष 2018 में अपने पहले ही बजट में प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना आरंभ की तथा इस योजना के लिए 25 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। सीएम जयराम ने कहा कि प्रदेश में गत लगभग चार वर्षों में प्रदेश में लगभग 1.54 लाख किसान परिवारों ने 9200 हेक्टेयर भूमि पर प्राकृतिक खेती को अपनाया है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष इस योजना के तहत 1.50 लाख किसानों को जोड़कर 12000 हेक्टेयर भूमि को प्राकृतिक खेती के अन्तर्गत लाने का लक्ष्य रखा गया है।

यह भी पढ़ें: गग्गल एयरपोर्ट के विस्तार को मिलेंगे 400 करोड़, मंडी के लिए विपक्ष से मांगा सहयोग

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार प्राकृतिक खेती की आधार भारतीय नस्ल की गाय की खरीद पर 50 प्रतिशत अनुदान, अधिकतम 25000 तक तथा पांच हजार रुपये यातायात शुल्क के तौर पर दे रही है। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना के अन्तर्गत विगत साढ़े तीन वर्षों में लगभग 46.18 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है