Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल की एक अदालत ने Congress विधायक को सुनाई तीन साल की सजा, MLA सदस्यता हुई रद्द

विधायक प्रदीप चौधरी सहित पंचकूला जिला के 14 लोगों को अदालत ने माना दोषी

हिमाचल की एक अदालत ने Congress विधायक को सुनाई तीन साल की सजा, MLA सदस्यता हुई रद्द

- Advertisement -

चंडीगढ़। हरियाणा विधानसभा में विधायक प्रदीप चौधरी (MLA Pradeep Chaudhary) की विधानसभा सदस्यता रद्द (Canceled) कर दी गई है। प्रदीप चौधरी कालका से कांग्रेस के विधायक (Kalka Congress MLA) हैं। जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश के नालागढ़ में निचली अदालत (Court) ने कांग्रेस विधायक प्रदीप चौधरी को एक मामले में दोषी (Guilty) करार दिया है। प्रदीप चौधरी को अदालत की ओर से तीन साल की सजा (Three Years Sentence) सुनाई गई है। इसके साथ ही उन पर अदालत ने 85 हजार रुपये जुर्माना भी लगाया है। हालांकि प्रदीप चौधरी एक महीने के भीतर सेशन कोर्ट में भी अपील कर सकते हैं।


यह भी पढ़ें: आज सद्भावना दिवस मना रहे किसान, दिनभर रहेंगे उपवास पर-पंजाब-हरियाणा से दिल्ली कूच

न्यायालय के फैसले के बाद अब हरियाणा विधानसभा सचिवालय ने विधायक प्रदीप चौधरी की सदस्यता रद्द कर दी है। हरियाणा विधानसभा के स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने इस बात की जानकारी दी। स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि विधायक प्रदीप चौधरी को तीन साल की सजा होने पर अयोग्य घोषित किया गया है। उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी भारतीय चुनाव आयोग को भेज दी गई है। आपको बता दें कि किसी भी सांसद या विधायक को दो साल से अधिक की सजा होने पर उसकी संसद और विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी जाती है। सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ ने सितंबर 2014 में मनोज नरूला बनाम केंद्र सरकार के केस में ये व्यवस्था दी थी। आपको बता दें कि किसी सांसद या एमएलए को कोर्ट द्वारा लोक प्रतिनिधित्व कानून 1951 की धारा एक, दो और तीन में दोषी करार दिया जाता है तो दोषी विधायक या सांसद की सदस्यता रद्द कर दी जाती है।


क्या है मामला
दरअसल पूरा मामला 2011 का है जिसमें विधायक प्रदीप चौधरी को नालागढ़ की निचली अदालत ने दोषी करार दिया है। यह मामला एक युवक की मौत के बाद बद्दी में चौक पर जाम लगाने और सरकारी काम में बाधा डालने का था। जानकारी के अनुसार 31 मई, 2011 को बरोटीवाला थाना के अंतर्गत ट्रैफिक चैकिंग चल रही थी। इसी दौरान सुना सिंह निवासी पप्सोहा पुलिस को देखकर बचने की कोशिश करना लगा और इसी बीच बिजली ट्रांसफार्मर की तारों की चपेट में गया। इलाज के दौरान युवक ने पीजीआई चंडीगढ़ में दम तोड़ दिया। इसके बाद परिजनों और अन्य लोगों ने बद्दी रेडलाइट चौक पर शव रखकर प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में पुलिस पर हमला भी किया गया और कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। प्रदर्शनकारियों ने बद्दी पुलिस थाने की गाड़ी भी फूंक दी। अब इस मामले में कालका से कांग्रेस के विधायक प्रदीप चौधरी सहित पंचकूला जिला के 14 लोगों को दोषी करार दिया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है