Covid-19 Update

2, 43, 365
मामले (हिमाचल)
2, 28, 454
मरीज ठीक हुए
3874*
मौत
37,380,253
मामले (भारत)
328,826,023
मामले (दुनिया)

2022 में खत्म हो सकता है कोरोना, बस करना होगा ये काम

WHO प्रमुख ने कहा विश्व से असमानता को करना होगा खत्म

2022 में खत्म हो सकता है कोरोना, बस करना होगा ये काम

- Advertisement -

दुनिया भर में कोरोना (Covid-19) महामारी का कहरा खत्म नहीं हुआ है। नए साल के मौके पर संदेश देते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) (World Health Organisation) (WHO) के प्रमुख ने कहा कि कोरोना विश्व के लिए चुनौती बन गया है। पूरा विश्व इस महामारी के तीसरे साल में प्रवेश कर रहा है। उन्होंने कहा कि साल 2022 में हम कोरोना को आसानी से खत्म कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए हमें पहले विश्व से असमानता को खत्म करना होगा।

ये भी पढ़ें-कोरोना को हराना है,कुछ ऐसा कर जाना है 15 से 18 आयु वर्ग के बच्चों को वैक्सीन शुरू

बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक डॉ. तेद्रोस अधानोम गेब्रेयेसस (Dr. Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने कोरोना को लेकर विश्व में असमानता की बात की है। उनका कहना है कि एक तरफ दुनिया के अमीर देश कोरोना के खिलाफ संसाधनों के दम पर कारगर तरीके से लड़ रहे हैं, जबकि दूसरी ओर दुनिया के गरीब देशों में आज तक 10 प्रतिशत आबादी को अभी तक भी कोरोना वैक्सीन (Vaccine) नहीं लगी है।

ऐसे खत्म नहीं होगा कोरोना

डॉ. गेब्रेयेसस ने कहा कि हम सब जानते हैं कि कोई भी देश महामारी से बाहर नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारे पास कोविड को रोकने और उसका इलाज करने के लिए बेहतर तकनीक और संसाधन उपलब्ध होने के बावजूद भी हम इसे खत्म नहीं कर पा रहे हैं। जिसका सबसे बड़ा कारण असमानता है। उन्होंने कहा कि विश्व में जितनी ज्यादा असमानता रहेगी हम वायरस के जोखिम से उतने ही ज्यादा प्रभावित रहेंगे। उन्होंने कहा कि कोविड को खत्म करने के लिए दुनिया से असमानता करनी होगी।

ये भी पढ़ें-15 से 18 वर्ष एज ग्रुप के लिए कोरोना वैक्सीनेशन रजिस्ट्रेशन शुरू, ये है डोज बुक करने का प्रोसेस

आगामी महामारी के लिए भी तैयार रहना होगा

डॉ. गेब्रेयेसस ने कोरोना के जोखिमों का उल्लेख करते हुए कहा कि अगले साल विश्व ना सिर्फ कोरोना से लड़ेगा बल्कि स्वास्थ्य संबंधी कई और समस्याओं से भी जूझना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते कई बीमारियों के इलाज में रुकावट पैदा हुई है। लाखों लोगों को रूटीन वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो रही है। इसके अलावा फैमिली प्लानिंग (Family Planning) के लिए लोग अस्पताल नहीं जा रहे हैं। उन्होंने लोगों को आगाह करते हुए कहा कि दुनिया को आगामी महामारी में मदद के लिए तैयार रहने की जरूरत है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है