Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,563,421
मामले (भारत)
230,985,679
मामले (दुनिया)

किन्नौरः खरोगला नाले में बाढ़, पूरी रात फंसे 6 मजदूर Rescue- फसल तबाह

किन्नौरः खरोगला नाले में बाढ़, पूरी रात फंसे 6 मजदूर Rescue- फसल तबाह

- Advertisement -

रिकांगपिओ। हिमाचल प्रदेश के जनजातीय जिला किन्नौर (Kinnaur) के खरोगला नाले में बाढ़ आने से पानी ग्रामीणों के खेतों में घुस गया, जिससे ग्रामीणों की लाखों की फसल के साथ सेब के बगीचों को भी भारी नुकसान हुआ है। वहीं, नाले में अचानक बाढ़ (Flood) आने से करीब छह मजदूर पूरी रात नाले की एक तरफ फंसे रहे, जिन्हें कई घंटों के बाद आज रेस्क्यू (Rescue) किया गया। बता दें कि यह बाढ़ शनिवार देर रात को किन्नौर के बटेसरी गांव के निकट खरोगला नाले में आई। बाढ़ आने से बटसेरी गांव के कई ग्रामीणों के खेतों में बाढ़ का पानी घुस गया, जिससे बटसेरी गांव के चिस्पान क्षेत्र में इंद्र भगत, मुकेश कुमार, सूरत सिंह, तांजिन छोपेल, राकेश कुमार, राधा कृष्ण व जितेंद्र सिंह सहित कई ग्रामीणों के खेतों में बाढ़ के पानी से भूमि कटाव हुआ और इन ग्रामीणों को लाखों रुपयों का क्षति हुई।

यह भी पढ़ें: Manali के कन्याल में फटा बादल, नाले में आई बाढ़ से पानी की सप्लाई हुई प्रभावित

 

यह भी पढ़ें: भारी बारिश से तबाही : कई मकान-मवेशी पानी में बहे, 5 साल का बच्चा बहने से बचाया, 3 NH बंद

स्थानीय लोगों ने बताया कि बीती रात से ही इस खरोगला नाले में बाढ़ शुरू हुई थी, लेकिन सुबह होते ही इसका बहाव काफी तेज़ हो गया, जिसके बाद खरोगला नाले से बाढ़ का प्रभाव बटसेरी गांव के लोगों के सेब के बगीचों (Apple Orchards) तक घुस आया और बगीचों को तबाह कर दिया। बताया जा रहा है कि इस बाढ़ से बास्पा नदी पर बनी 300 मेगावाट जेएसडब्ल्यू विद्युत परियोजना में भी सिल्ट की मात्रा बढ़ गई है। बाढ़ की सूचना मिलते ही राजस्व विभाग की ओर से पटवारी एवं नायब तहसीलदार ने घटनास्थल का दौरा कर नुकसान के आकलन का कार्य शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें: नालों में आई बाढ़ में बह गईं दो परिवार की चार बहनें

 

 

बीते साल भी आई थी बाढ़ हुआ था लाखों का नुकसान

स्थानीय लोगों ने बताया कि पिछले साल भी इस नाले में बाढ़ आई थी जिससे लाखों का नुकसान हुआ था। ग्रामीणों ने इस संदर्भ में जिला प्रशासन से खरोगला नाले में बाढ़ से बचाव के लिए सुरक्षा दीवार लगाए जाने की मांग भी की थी। लेकिन प्रशासन की ओर से अब तक सुरक्षा दीवार नहीं लगाई गई। जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है