Covid-19 Update

2,16,906
मामले (हिमाचल)
2,11,694
मरीज ठीक हुए
3,634
मौत
33,477,459
मामले (भारत)
229,144,868
मामले (दुनिया)

दिल्‍ली की Lady Don सोनू पंजाबन ने की आत्महत्या की कोशिश, पहुंची अस्‍पताल

दिल्‍ली की Lady Don सोनू पंजाबन ने की आत्महत्या की कोशिश, पहुंची अस्‍पताल

- Advertisement -

नई दिल्ली। दिल्ली की लेडी डॉन के नाम से मशहूर कुख्‍यात गैंगस्‍टर गीता अरोड़ा उर्फ सोनू पंजाबन (Sonu Panjaban) ने तिहाड़ जेल में आत्‍महत्‍या की कोशिश (Suicide Attempt) की है। बतौर रिपोर्ट्स, सेक्स रैकेट सरगना गीता अरोड़ा उर्फ सोनू पंजाबन ने तिहाड़ जेल में कोई जहरीली दवाई पी ली है। इसके बाद उसकी तबीयत खराब हो गई। सोनू पंजाबन को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती करवाया गया है, जहां उसकी हालत खतरे से बाहर है। जेल प्रशासन के अनुसार सोनू पंजाबन को तिहाड़ के जेल नम्बर 6 में बंद किया गया था। अधिकारियों ने बताया कि अभी हाल ही में सोनू पंजाबन को सेक्स रैकेट चलाने के मामले में कोर्ट ने दोषी करार दिया था। हालांकि कोर्ट ने अभी तक सजा का एलान नहीं किया है।

सोनू को पहली बार किसी मामले में पाया गया है दोषी

दिल्ली में जिस्मफरोशी का सबसे बड़ा रैकेट चलाने वाली सोनू पंजाबन उर्फ गीता अरोड़ा को पहली बार किसी केस में दोषी पाया गया है। एक बारह साल की बच्ची के अपरहण ,रेप और उसे जबरन जिस्मफरोशी के धंधे में धकेलने के मामले में उसे कोर्ट दोषी माना है। दरअसल साल 2009 में दिल्ली के हर्ष विहार इलाके से से एक बारह साल की बच्ची का अपरहण हुआ और फिर 5 साल बाद 2014 में वो बच्ची नजफगढ़ थाने पहुंची और उसने पूरी आपबीती बताई। बच्ची ने बताया कि साल 2006 में जब वो 6वीं क्लास में पढ़ रही थी तब उसकी दोस्ती संदीप बेदवाल नाम के शख्स से हो गई। 2009 में संदीप उससे शादी करने के बहाने लक्ष्मी नगर ले गया और वहां उसके साथ रेप किया, फिर उस बच्ची को अलग अलग लोगों को 10 बार बेचा गया।

यह भी पढ़ें: IS के बड़े मॉड्यूल का भंडाफोड़: मेट्रो सिटी की महिलाएं संभाल रहीं कमान; प्रचार और विस्फोटक जुटाना है काम

बीच में बच्ची सोनू पंजाबन के पास भी रही जिसने उसे जिस्मफ़रोशी के धंधे में जबरन धकेल दिया। इस दौरान बच्ची को नशे के इंजेक्शन दिए गए और न जाने कितने लोगों ने उसके साथ रेप किया। बच्ची को दिल्ली के अलावा हरियाण और पंजाब भी भेजा गया। आखिर में एक सतपाल नाम के शख्स ने बच्ची से जबरन शादी कर ली लेकिन बच्ची किसी तरह उसके चंगुल से छूटकर नजफगढ़ थाने पहुंच गयी। बाद में इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच के डीसीपी भीष्म सिंह की टीम ने की और सोनू पंजाबन और संदीप को गिरफ्तार किया गया। अब कोर्ट ने दोनों को रेप और अन्य संगीन धाराओं में दोषी करार दिया है। अब बताया जा रहा है कि सोनू को इस बात का डर है कि उसे कोर्ट द्वारा कड़ी सजा सुनाई जा सकती है। ऐसे में उसने सजा पाने से बेहतर मौत को गले लगाना समझा और आत्महत्या का प्रयास किया। जेल सूत्रों के मुताबिक, सोनू पंजाबन ने सिरदर्द की शिकायत की थी। उसे जो दवाइयां दी गईं वो उसने एकसाथ लेकर जान देने की कोशिश की। हालांकि जेल के अडिश्नल आईजी राजकुमार ने ऐसी किसी बात से इनकार किया। उन्‍होंने कहा कि सोनू ने सिरदर्द की गोलियां कुछ ज्‍यादा खा लीं, और कोई बात नहीं है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है