Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

हिमाचल से चोरी फार्चुनर कार हरियाणा में मिली, पुलिस ने 21 दिन में 30 कैमरों की मदद से ढूंढी

मंडी की औट पुलिस ने भिवानी से ढूंढ निकाली फार्चुनर कार, अन्य कारें भी मिलीं

हिमाचल से चोरी फार्चुनर कार हरियाणा में मिली, पुलिस ने 21 दिन में 30 कैमरों की मदद से ढूंढी

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल के मंडी जिला के औट से चोरी की गई फार्चुनर कार (Stolen Fortuner Car) पुलिस ने 21 दिन बाद हरियाणा से बरामद कर ली है। पुलिस को यह सफलता 30 से भी ज्यादा सीसीटीवी खंगालने के बाद मिली। औट थाना पुलिस की टीम ने चोरी की गई फार्चुनर कार को हरियाणा के भिवानी से बरामद कर लिया है। यही नहीं पुलिस ने मौके से कई अन्य लग्जरी गाड़ियों को भी पकड़ा है। यह हरियाणा की बताई जा रही हैं। इस मामले में चार लोगों की पहचान की गई है जिनमें विजय उर्फ फौजी, नवीन, सतीश और राहुल उर्फ बच्ची शामिल हैं। इन लोगों के खिलाफ दिल्ली, हरियाणा और हिमाचल में पहले से ही कई मामले दर्ज हैं।

यह भी पढ़ें- हिमाचल: 900 पेटी शराब मामले में एक्साइज विभाग का अधिकारी गिरफ्तार

बता दें कि बीती 7 फरवरी की रात को औट पंचायत के प्रधान भूषण वर्मा के घर के बाहर खड़ी फार्चुनर कार को दो चोर चुराकर ले गए थे। 8 फरवरी को भूषण वर्मा ने इसको लेकर औट थाना पुलिस में एफआईआर (FIR) दर्ज कर मामले की आगामी जांच शुरू की। औट थाना प्रभारी इंस्पेक्टर ललित महंत ने अपनी टीम के साथ शहर भर के 30 से ज्यादा सीसीटीवी को खंगालने के बाद इस मामले को सुलझा लिया। चोरों ने कार को चुराने के बाद उसकी नंबर प्लेट गायब कर दी थी। कार के साथ और भी छेड़छाड़ हुई है। कार का इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम (Electronic System) पूरी तरह से नष्ट कर दिया गया हैए क्योंकि इसके बाद ही उसे चुराने में मदद मिली। लेकिन कार का फ्रंट शीशा जोकि पत्थर गिरने के कारण टूट गया थाए इस कार को पहचानने में सबसे बड़ा मददगार बना।

फास्टैग से केस सुलझाने में मिली मदद

पुलिस के अनुसार उन्होंने जब सीसीटीवी (CCTV) फुटेज खंगालनी शुरू की तो उन्हें हर कैमरे में चुराई गई कार के साथ-साथ एक और फार्चुनर कार भी नजर आई। पुलिस को इसपर शक हुआ और इसकी जांच पड़ताल शुरू की। मनाली के पास लगे टोल नाके से इसकी डिटेल खंगाली गईए तो पता चला कि इसका फास्टेग हाथ में पकड़कर स्कैन करवाया गया था। फास्टैग (Fastag) किसी दूसरी गाड़ी का हैए जोकि एक अन्य मामले में दिल्ली पुलिस ने पकड़ी हुई है। जिसके नाम पर फास्टैग थाए पुलिस उसके पास पहुंची तो उसने ही इन शातिरों के बारे में जानकारी दी। चोरों के गिरोह तक पहुंचने में सीआईए जिंदए रोहतक और भिवानी की टीमों ने अपनी अहम भूमिका निभाई। एएसपी मंडी विवेक चैहल ने मामले की पुष्टि की है। इस मामले में चार लोगों की पहचान की गई है जिनमें विजय उर्फ फौजीए नवीनए सतीश और राहुल उर्फ बच्ची शामिल हैं। इन लोगों के खिलाफ दिल्लीए हरियाणा और हिमाचल में पहले से ही कई मामले दर्ज हैं। नियमानुसार आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। वहीं औट पंचायत प्रधान भूषण वर्मा ने कार को ढूंढ निकालने के लिए पुलिस का आभार जताया है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है