Covid-19 Update

1,61,072
मामले (हिमाचल)
1,24,434
मरीज ठीक हुए
2348
मौत
24,965,463
मामले (भारत)
163,750,604
मामले (दुनिया)
×

Breaking: गुड़िया मामले के आरोपी नीलू चिरानी को Nahan में उम्रकैद, जानिए पूरा मामला

एक महिला के हत्या के प्रयास का दोषी दिया करार, 2015 का है मामला

Breaking: गुड़िया मामले के आरोपी नीलू चिरानी को Nahan में उम्रकैद, जानिए पूरा मामला

- Advertisement -

नाहन। शिमला (Shimla) जिला के कोटखाई की गुड़िया (Gudiya) मामले के आरोपी चिरानी अनिल कुमार उर्फ नीलू को जिला सिरमौर के नाहन (Nahan) में उम्रकैद की सजा हुई है। यह सजा उसे पुलिस (Police) थाना पच्छाद के तहत वर्ष 2015 में दर्ज महिला की हत्या के प्रयास मामले में दोषी पाए जाने के बाद सुनाई गई है। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश जसवंत की अदालत ने अनिल कुमार को दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई है। साथ ही 25 हजार जुर्माना भी लगाया है। मामले की पुष्टि उप जिला न्यायावादी एकलव्य ने की है।


यह भी पढ़ें: Chamba: चाचा की हत्या के बाद फरार भतीजा चढ़ा पुलिस के हत्‍थे, दोनों ने साथ पी थी शराब

क्या है मामला

सिरमौर जिला के पुलिस थाना पच्छाद में 6 सितंबर 2015 को एक महिला के हत्या के प्रयास (Assassination Attempt) का मामला दर्ज हुआ था। महिला दसाना गांव की रहने वाली है। मामला महिला के बेटे की शिकायत पर दर्ज किया गया था। बेटे ने शिकायत में बताया कि वह बकरियां चराने घर से निकला। उसकी माता भी पशुओं को चराने के लिए गई थी। वह दोनों अलग अलग जगहों पर गए थे। करीब साढ़े तीन बजे किसी व्यक्ति ने फोन पर सूचना दी कि आपकी माता जंगल में घायल अवस्था में पड़ी हुई है। सूचना मिलने के बाद वह गांव के अन्य लोगों के साथ मौके पर पहुंचा। मौके पर देखा कि उसकी माता रास्ते में पड़ी थी और चिल्ला रही थी। उसके माथे, गाल, नाक, हौंठ व गले पर तेजधार हथियार के वार थे। साथ ही दाहिने हाथ का अंगूठा और एक अंगुली कटकर अलग पड़ी थी। उसकी माता बात करने की हालत में नहीं थी। इसके बाद 108 एंबुलेंस (108 Ambulance) के माध्यम से घायल माता को सराहां अस्पताल पहुंचाया। मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच आरंभ की। इसी बीच महिला को सोलन अस्पताल रेफर कर दिया गया। पुलिस ने वारदात स्थल का मुआइना किया। पुलिस को महिला के कटे अंग, बाल, लाइटर, डंडे, कान की बाली, नाक की नथनी आदि बरामद हुए। 17 सितंबर को महिला के ठीक होने के बाद पुलिस ने बयान दर्ज किया। महिला के बयान के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज किया। इसके बाद पुलिस ने बाहर आए चिरानी आदि की महिला से शिनाख्त करवाई गई। महिला ने अनिल उर्फ नीलू को पहचान लिया। बताया कि यह वही व्यक्ति ने जिसने उसके साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की। विरोध करने पर दराट से उसके दाएं हाथ की अंगुली और अंगूठा काट दिया। इसके बाद पुलिस आरोपी को हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार (Arrest) कर लिया। मामले की जांच कर चालान कोट में पेश किया। आज कोर्ट ने आरोपी चिरानी अनिल को दोषी करार देते हुए धारा 307 के तहत उम्रकैद और 20 हजार जुर्माना सुनाया गया है। जुर्माना अदा ना करने की सूरत में एक साल का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। इसके अलावा धारा 354 के तहत दो साल की सजा और 5 हजार जुर्माना लगाया है। जुर्माना अदा ना करने की सूरत में तीन माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा।


यह भी पढ़ें: नाबालिग को अगवा करने व बदसलूकी के मामले के दोषी को 15 वर्ष की Jail

बता दें कि चिरानी अनिल कुमार उर्फ नीलू शिमला जिला की कोटखाई गुड़िया मामले का आरोपी है। मामला कोर्ट में चला है। 4 जुलाई 2017 को 16 साल की गुड़िया जब स्कूल से वापस आ रही थी तभी उसका अपहरण कर उसके साथ बलात्कार किया गया और फिर बलात्कार के बाद मासूम गुड़िया की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। उसके शव को जंगल में फेंक दिया, जो दो दिन के बाद बरामद हुआ था। मामले को लेकर सियासी गलियारों में काफी तपिश रही थी। तत्कालीन वीरभद्र सरकार कटघरे में आ गई थी। इसके बाद मामला सीबीआई को सौंपा। सीबीआई ने जांच में मामले में नीलू चिरानी की संलिप्तता पाई और उसे गिरफ्तार किया था। हालांकि, गुड़िया के परिजन जांच से खुश नहीं हैं और वह आज भी मामले की दोबारा जांच की मांग कर रहे हैं। परिजनों को लगता है कि मामले में और भी लोग शामिल हैं, जिन्हें बचाया जा रहा है। आपको यह भी बता दें कि सीबीआई के पास मामला जाने से पहले हिमाचल पुलिस की एसआईटी मामले की जांच कर रही थी। जांच के दौरान कोटखाई पुलिस थाना में सूरज नाम के व्यक्ति की मौत हो गई थी। इस मामले में पूरी एसआईटी को गिरफ्तार किया गया था। 

 

 

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है