Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

एनीमिया मुक्त भारत इंडेक्स में हिमाचल ने हासिल किया तीसरा स्थान, 57.1 रहा स्कोर

2018.19 में हासिल किया था 18वां रैंक, पहले पर मध्य प्रदेश तो दूसरे स्थान पर ओडिशा ने जमाया कब्जा

एनीमिया मुक्त भारत इंडेक्स में हिमाचल ने हासिल किया तीसरा स्थान, 57.1 रहा स्कोर

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश ने एनीमिया मुक्त भारत इंडेक्स 2020-21 (Anemia Free India Index) राष्ट्रीय रैंकिंग में तीसरा स्थान हासिल किया है। पहला स्थान 64.1 स्कोर के साथ मध्य प्रदेश को मिला है। जबकि 59.3 स्कोर के साथ ओडिशा को दूसरा स्थान मिला है। हिमाचल ने 57.1 के स्कोर के साथ तीसरा रैंक हासिल किया है। यह जानकारी प्रदेश सरकार (State Govt) के एक प्रवक्त ने रविवार को दी। उन्हेंने बताया कि इस उपलब्धि का श्रेय हमारे फील्ड स्टाफ के लगातार प्रयासों और मजबूत नीतियों को जाता है। बता दें वर्ष 2018-19 में हिमाचल (Himachal) का देशभर में 18वां रैंक था, लेकिन सरकार के लगातार प्रयासों से 2020-21 एएमबी में यह रैंक बढ़कर तीन पहुंच गया है। एनीमिया (Anemia) देश भर में उच्च प्रसार के साथ एक प्रमुख सार्वजनिक स्वास्थ्य मुद्दा बना हुआ है। भारत आज एक गंभीर सार्वजनिक स्वास्थ्य चिंता के रूप में एनीमिया वाले देशों में से एक है। देश में लगभग 50 प्रतिशत गर्भवती महिलाएं, 59 प्रतिशत पांच साल से कम उम्र के बच्चे, 54 प्रतिशत किशोर लड़कियां और 53 प्रतिशत गैर गर्भवती व गैरस्तनपान कराने वाली महिलाएं एनीमिया से ग्रस्त हैं।

यह भी पढ़ें: राहतः Himachal में कोरोना रिकवरी रेट 94 फीसदी पार, आज 45 मामले

 


राज्य सरकार प्रदेश में एनीमिया मुक्त कार्यक्रम के अन्तर्गत रणनीति तैयार कर कार्य कर रही है और प्रदेश को एनीमिया मुक्त बनाने की दिशा में कारगर कदम उठाए गए हैं। बच्चों (Children) को एनीमिया मुक्त करने के लिए रोग निरोधी आयरन और फॉलिक एसिड की खुराक प्रदान की जा रही है। स्कूल जाने वाले बच्चों की नियमित रूप से डीवर्मिंग की जा रही है। मृदा संचारित कृमि का प्रसार 3 वर्षों में 29 प्रतिशत से घटकर 0.3 प्रतिशत हो गया है, जो कार्यक्रम की प्रभावशीलता और कार्यान्वयन को दर्शाता है। लोगों को एनीमिया के बारे में जागरूक करने के लिए वर्ष भर जागरूकता अभियान (Awareness Campaign) चलाने के अतिरिक्त इस अभियान के अन्तर्गत एनीमिया परीक्षण और उपचार पर भी विशेष बल दिया जा रहा है। सरकार द्वारा वित्त पोषित स्वास्थ्य कार्यक्रमों में आयरन और फॉलिक एसिड फोर्टिफाइड खाद्य पदार्थों का अनिवार्य प्रावधान किया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है