Covid-19 Update

2, 85, 010
मामले (हिमाचल)
2, 80, 811
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,138,393
मामले (भारत)
527,715,878
मामले (दुनिया)

हिमाचलः अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव मंडी में पहुंची “इंडियन मोनालिसा”

विश्व प्रसिद्ध चित्र शैली “बणी-ठणी” में तैयार की गई है यह दुर्लभ पेंटिंग

हिमाचलः अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव मंडी में पहुंची “इंडियन मोनालिसा”

- Advertisement -

मंडी। राजस्थान के किशनगढ़ की विश्व प्रसिद्ध “बणी-ठणी” चित्र शैली की पेंटिंग इस बार शिवरात्रि महोत्सव में भी पहुंच गई है। राजस्थान किशनगढ़ के अरविंद साहू ने इस चित्र शैली का एक स्टॉल विभागीय प्रदर्शनों के पंडाल में लगाया है। अरविंद साहू व उनके परिवार के सदस्यों द्वारा बनाए गए यह चित्र एकाएक लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं। इन पेंटिंग्स में भारतीय मोनालिसा की पेंटिंग भी है, जो कि किशनगढ़ के राजाओं के पुराने डॉक्यूमेंट्स पर तैयार की गई है। इसके साथ ही बहुत से पुराने डाक पत्रों पर भी बणी-ठणी चित्र शैली की कई पेंटिंग्स तैयार की गई है।

यह भी पढ़ें:देव समागम अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव का आगाज, देव कमरूनाग ने तोड़ी सदियों पुरानी परंपरा

अरविंद साहू ने बताया कि बणी-ठणी चित्र शैली पेंटिंग उन्होंने अपने पिता से सीखी है और उनके परिवार के अधिकतर सदस्य इस शैली में पेंटिंग तैयार करते हैं। उन्होंने बताया कि स्टॉल में लगाई गई यह सभी पेंटिंग उन्होंने स्वयं तैयार की है। इन पेंटिंग्स की खास बात यह है कि यह रात के समय कम रोशनी में भी शाइन करती हैं। उन्होंने बताया कि यह सभी पेंटिंग्स कागज व कपड़े पर तैयार की गई है। अरविंद साहू बताते हैं कि लोकल फॉर वोकल उत्पाद को बढ़ावा देते हुए उन्होंने यह पेंटिंग्स तैयार की है, जिनकी कीमत 250 से 2500 के बीच में रखी गई है।

यह भी पढ़ें:हिमाचलः रन फॉर मंडी हाफ मैराथन में नेशनल एथलीट रमेश व निकिता रहे सबसे आगे

बता दें कि बणी-ठणी चित्रशैली का प्रारंभ महाराजा सावंत सिंह के शासन काल में हुआ था। इस शैली के प्रमुख चित्रकार मोरध्वज निहालचंद माने जाते हैं, जिन्होंने राजस्थान की मोनालिसा कही जाने वाली बणी-ठनी पेंटिंग बनाई थी। किशनगढ़ चित्रशैली के चित्रकारों ने बणी-ठनी को राधा के प्रतीक के रूप में भी चित्रित किया है। बनी-ठनी को एरिक डिकिन्सन ने भारत की मोनालिसा कहा है। भारत सरकार के द्वारा बनी-ठनी डाक टिकट 5 मई, 1973 को जारी किया था, जिससे यह पूरे देशभर में प्रसिद्ध हो गई।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है