Covid-19 Update

2, 85, 014
मामले (हिमाचल)
2, 80, 820
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,142,192
मामले (भारत)
529,039,594
मामले (दुनिया)

हिमाचल में इन जेबीटी सीएंडवी अध्यापकों के नियमितकरण का मामला लटका, जाने कारण

शिक्षक महासंघ के प्रान्त महामंत्री ने पांच जिला निदेशकों की कार्यप्रणाली का किया विरोध

हिमाचल में इन जेबीटी सीएंडवी अध्यापकों के नियमितकरण का मामला लटका, जाने कारण

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ ने इंटर जिला ट्रांसफर (Transfer) हुए जेबीटी सीएंडवी अध्यपकों (JBT C&V Teachers) को 3 वर्ष से ज्यादा समय होने के बाद नियमित नही करने के लिए मंडी, कुल्लू, बिलासपुर, सिरमौर, सोलन जिला निदेशकों की कार्यप्रणाली का विरोध किया है। हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रांत महामंत्री डॉ मामराज पुंडीर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के आग्रह पर सीएम जयराम ठाकुर और शिक्षामंत्री गोविंद ठाकुर ने जेबीटी ओर सीएंडवी अध्यापकों के लिए अंतर जिला ट्रांसफर नीति बना कर 45000 शिक्षकों को राहत दी थी। इस नीति के तरह ट्रांसफर हुए शिक्षकों को अपनी नियमितकरण (Regularization) के लिए धक्के खाने पड़ रहे हैं। तीन वर्ष से ज्यादा समय बीतने के बाद भी यह लोग नियमित नही हुए। हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रान्त महामंत्री डॉ मामराज पुंडीर ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के कर्मचारियों को 1 जनवरी 2016 से नया वेतनमान जारी कर दिया है। ऐसे में इन अध्यापकोa को उस लाभ से वंचित रहना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: चार हजार प्री प्राइमरी शिक्षकों की होगी तैनाती, जेबीटी भर्ती के भी दिए निर्देश

डॉ मामराज पुंडीर ने कहा कि वह इस विषय को सीएम जयराम के सामने लाकर इन अधिकारियों की कार्यशैली की शिकायत करेंगे। शिक्षा निदेशक जो इन जिले में सेवाएं दे रहे हैं वह शिक्षा क्षेत्र से संबंध रखते है। लेकिन उन्होंने इन अध्यापकों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है। हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ ऐसे अधिकारियों का घेराव करेगा जो सरकार की छवि खराब करने का काम कर रहे हैं। एक जिले से दूसरे जिले में इनकी ट्रांसफर सीएम जयराम द्वारा बनाई नीति के तहत ट्रांसफर हुए हैं। तो इनको नियमित होने से कैसे रोका जा सकता है। डॉ मामराज पुंडीर ने कहा कि इन अध्यापकों को नियमित जिला करता है इनकों शिक्षा निदेशक कार्यालय भेजने का कोई औचित्य नही। अब इस विषय को कैबिनेट (Cabinet) में भेजने से इन अध्यापकों को नियमित होने के लिए इंतजार करना पड़ेगा। जिसका हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ विरोध करता है और सीएम जयराम के प्रवास से वापिस आने पर उनसे मुलाकात करेंगे।

हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रांत महामंत्री ने कहा कि 29 तारीख को एक डेपुटेशन सीएम जय राम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur), शिक्षामंत्री गोविंद ठाकुर से मिला था। आज भी इस विषय पर शिक्षामंत्री गोविंद ठाकुर (Education Minister Govind Thakur) जी से चर्चा की गई है। हिमाचल प्रदेश शिक्षक महासंघ के प्रांत महामंत्री डॉ मामराज पुंडीर ने कहा कि कुछ जिलों के उप शिक्षानिदेशकों ने बिना कागज पढ़े शिक्षा निदेशक को भेज दिए। जिससे यह मामला उलझता जा रहा है। प्रदेश के कई जिलों ने ट्रांसफर के बाद शिक्षकों को नियमित कर दिया। कुछ उप शिक्षा निदेशकों ने यह शिक्षा निदेशक को प्रेषित कर दी।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है