Covid-19 Update

2,27,483
मामले (हिमाचल)
2,22,831
मरीज ठीक हुए
3,835
मौत
34,624,360
मामले (भारत)
265,482,381
मामले (दुनिया)

हिमाचल उपचुनाव: BJP की राह मुशिकल, यहां मंडल सहित मोर्चों पदाधिकारियों ने दिए इस्तीफे

इस्तीफे के बाद चेतन के पक्ष में प्रचार करने में जुटे बागी पदाधिकारी

हिमाचल उपचुनाव: BJP की राह मुशिकल, यहां मंडल सहित मोर्चों पदाधिकारियों ने दिए इस्तीफे

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में उपचुनाव में बागी तेवर अपनाने वाले चेतन बरागटा को बीजेपी ने पार्टी से तो निष्कासित (Expelled) कर दिया, लेकिन इससे पार्टी की मुशिकलें कम नहीं हुईं हैं। शिमला जिले के जुब्बल-नावर-कोटखाई में बीजेपी की परेशानियां लगातार बढ़ती जा रही हैं। चेतन बरागटा के निष्कासन के बाद से नाराज बीजेपी के पदाधिकारी अपने इस्तीफे दे रहे हैं। शुक्रवार को भी बीजेपी मंडल (BJP Mandal) अध्यक्ष ने पूरी कार्यकारिणी सहित अपना त्याग पत्र पार्टी हाईकमान को भेज दिया है। इसके साथ ही युवा मोर्चा, महिला मोर्चा, किसान मोर्चा, बीजेपी आईटी सेल के अध्यक्ष सहित सैकड़ों पदाधिकारियों ने पार्टी से त्याग पत्र (Resignation Letter) दे दिया है। बीजेपी जिला कार्यकारिणी में शामिल पदाधिकारियों ने भी अपने इस्तीफे दे दिए हैं।

यह भी पढ़ें: जयराम ठाकुर बोले: जल्द हिमाचल का होगा जोगिंद्रनगर का शानन पावर प्रोजेक्ट

बीजेपी से इस्तीफे देने वाले सभी लोग चेतन बरागटा (Chetan Bragta) के पक्ष में चुनाव प्रचार करने में जुट गए हैं। ऐसे में बीजेपी की राह मुशिकल होती दिख रही है। बता दें कि उपचुनाव में चेतन बरागटा निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। चेतन बरागटा का बीजेपी प्रदेश आईटी संयोजक पद से निष्कासन के बाद शुक्रवार को बीजेपी मंडल अध्यक्ष सहित बीजेपी पदाधिकारियों ने भी अपने पदों से त्याग पत्र दे दिया है। महिला मोर्चा अध्यक्ष नैना तनेटा, युवा मोर्चा अध्यक्ष जतिन चौहान, किसान मोर्चा अध्यक्ष मनोज सुंटा ने सैकड़ों पदाधिकारियों सहित त्याग पत्र पार्टी हाईकमान को भेज दिया है। बीजेपी के बूथ स्तर से लेकर जिला स्तर के पदाधिकारियों में जैसे इस्तीफे देने की होड़ लग गई है। लोग फेसबुक पर पोस्ट डालकर अपने पदों से त्यागपत्र दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल उपचुनाव: लोगों ने BJP कार्यकर्ताओं को गांव में घुसने से रोका, लगा दी क्लास

तीन माह से चेतन के लिए मांगे जा रहे थे वोट

जानकारी देते हुए बीजेपी मंडल अध्यक्ष गोपाल ने बताया कि पार्टी ने नरेंद्र बरागटा के निधन के बाद उनके बेटे चेतन को 15 दिनों के अंदर ही क्षेत्र की जिम्मेदारी सौंपी थी। जिसके चलते चेतन बरागटा को पूरे क्षेत्र में घुमाकर बीजेपी का प्रत्याशी (BJP Candidate) बताया और उनके लिए वोट मांगे थे। बीजेपी के सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी चेतन बरागटा के लिए तीन माह से वोट मांग रहे थे। लेकिन जब टिकट देने की बारी आई तो मंडल के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को विश्वास में लिए बिना टिकट किसी और को दिया गया। अब बीजेपी के सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ता अपने सम्मान व अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे हैं। सभी ने पार्टी हाईकमान को अपने इस्तीफे दे दिए हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है