Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

J&K के हंदवाड़ा में शहीद हुए मेजर अनुज सूद का देहरा से था नाता, योल में ससुराल

J&K के हंदवाड़ा में शहीद हुए मेजर अनुज सूद का देहरा से था नाता, योल में ससुराल

- Advertisement -

धर्मशाला। जम्मू-कश्मीर (J&K) के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में सेना एक कर्नल और मेजर समेत चार लोग शहीद हुए हैं। जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक अधिकारी भी शहीद हुआ है। इस मुठभेड़ में शहीद होने वालों में राष्ट्रीय राइफल के कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद और पुलिस के एक सब इंस्पेक्टर शकील काजी शामिल हैं। राष्ट्रीय राइफल के शहीद मेजर अनुज सूद (31) के ससुराल धर्मशाला (Dharamshala) के साथ लगते योल में हैं। साथ ही देहरा से भी उनका गहरा नाता था।

यह भी पढ़ें: Handwara Encounter में एक कर्नल और एक मेजर समेत पांच जवान शहीद, दो आतंकी भी ढेर

मेजर अनुज सूद के शहादत की खबर जैसे ही उनके सुसराल धर्मशाला के योल स्थित घर में पहुंची तो वहां शोक की लहर दौड़ गई। शहीद मेजर अनुज सूद ने कर्नल कश्मीर सिंह की बेटी से डेढ़ साल पहले शादी की थी, जो धर्मशाला के नजदीक योल में रहते हैं। शादी पालमपुर के एक मैरिज पैलेस में हुई थी। जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए मेजर अनुज सूद का हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा में देहरा (Dehra) शहर से गहरा नाता रहा है। शहर के बीच कृष्णा निवास के नाम से उनका पुश्तैनी घर है। शहीद मेजर अनुज सूद के दादा सुरेंंद्र सूद व दादी साधना सूद इसी घर में रहा करते थे।


यह भी पढ़ें: ब्रेकिंगः Himachal का एक और जिला हुआ कोरोना फ्री, अभी 11 जिलों में नहीं कोई मामला

शहीद के पिता बिग्रेडियर (रि.) चंद्रकांत सूद व माता रागिनी सूद काफी समय पहले देहरा से पंचकूला स्थित नए घर में शिफ्ट हो गए थे, लेकिन अभी भी उनके परिवार के सदस्यों का देहरा से उतना ही लगाव है और वे अक्सर यहां आते रहते हैं। शहीद मेजर अनुज सूद की गत वर्ष ही शादी हुई थी व उनकी एक बहन भी है। मेजर अनुज सूद के परिवार की देहरा शहर से जुड़ी यादों को ताजा करते हुए उनकी दादी के भाई प्रदेश उच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल देव सूद, अनिल सूद व सुभाष सूद सहित सूद बिरादरी के अन्य सदस्यों ने मेजर अनुज सूद की देश की सुरक्षा के लिए दिए गए सर्वोच्च बलिदान को सलाम किया है।

यह भी पढ़ें: जिला के अंदर आवाजाही को Pass की जरूरत नहीं, शहरों में दुकानें खोलने की वैकल्पिक व्यवस्था

शहीद मेजर अनुज सूद जिला कांगड़ा के देहरा गोपीपुर के रहने वाले थे, उनके पिता ब्रिगेडियर चंदरकांत सूद पंचकूला के अमरावती एन्क्लेव में रहते हैं। उनके पिता ब्रिगेडियर चंद्रकांत सूद भी सेना से सेवानिवृत्त हैं। ब्रिगेडियर चंदरकांत सूद देहरा गोपीपुर के हैं, लेकिन अब चंडीमंदिर पंचकूला में बस गए हैं। पिता को जब बेटे मेजर अनुज के शहादत की खबर मिली तो उनकी अश्रुधारा बह निकली। मेजर का पार्थिव शरीर अंतिम संस्कार के लिए पंचकूला लाया जाएगा। हंदवाड़ा में हुई मुठभेड़ में एक कर्नल, एक मेजर, दो जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक सब इंस्पेक्टर समेत पांच सुरक्षाकर्मी शहीद और एक जवान जख्मी हो गया। इस दौरान दो आतंकी भी मारे गए हैं।

राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय तथा सीएम जयराम ठाकुर ने मेजर अनुज सूद शहादत पर शोक व्यक्त किया है। अनुज सूद आज जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ के दौरान अन्य चार जवानों सहित शहीद हो गए। उनका जिला कांगड़ा के देहरा से गहरा नाता था। राज्यपाल ने कहा कि उन्होंने पूरे संपर्ण के साथ देश की सेवा की है और देश के नागरिकों की सुरक्षा के लिए अपना बलिदान दिया है। जयराम ठाकुर ने अपने शोक संदेश में कहा कि अनुज सूद ने देश के लिए आतंकवादियों से लड़ते हुए अपने प्रोणों की आहूति दी। देश व प्रदेश को उनकी इस शहादत पर गर्व है। उन्होंने ईश्वर से शहीद की आत्मा को शांति प्रदान करने तथा शोक संतप्त परिवार के सदस्यों को इस दुखद घड़ी में शक्ति प्रदान करने की कामना की है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है