हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022

BJP

25

INC

40

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

हिमाचल: भारी बारिश के बीच हुआ राष्ट्रीय विधिक सेवा महाशिविर, नहीं पहुंचे किरेन रिजिजू और CJI

चीफ जस्टिस अमजद ए सैयद ने एक करोड़ केस लोक अदालत में निपटाए

हिमाचल: भारी बारिश के बीच हुआ राष्ट्रीय विधिक सेवा महाशिविर, नहीं पहुंचे किरेन रिजिजू और CJI

- Advertisement -

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी धर्मशाला में आज भारी बारिश (Heavy Rainfall) के बावजूद राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली का राष्ट्रीय विधिक सेवा महाशिविर का भव्य आयोजन किया गया। पुलिस मैदान धर्मशाला में विधिक सेवा महाशिविर में सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश उदय उमेश ललित सहित केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्री किरेन रिजिजू के पहुंचने का शेड्यूल था, लेकिन हिमाचल में मौसम खराब होने के कारण वह शामिल नहीं हो पाए।

यह भी पढ़ें:शारीरिक फिटनेस ही जीवन की सबसे बड़ी पूंजी : राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर

बता दें कि इस महाशिविर में हिमाचल प्रदेश के हाईकोर्ट (High Court) के मुख्य न्यायाधीश अमजद ए सैयद ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। जबकि,न्यायाधीश उच्च न्यायालय हिमाचल प्रदेश एवं कार्यकारी अध्यक्ष जज सबीना विशेष अतिथि के रूप में मौजूद रहे।

Mega-Legal-Service-Camp

Mega-Legal-Service-Camp

Download Gb watsapp.app

केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर कहा धर्मशाला में खराब मौसम के कारण, भारत के मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति यू यू ललित और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ के साथ धर्मशाला में मेरा कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। उन हजारों लोगों के लिए खेद है जो महत्वपूर्ण नालसा कार्यक्रम की प्रतीक्षा कर रहे हैं। जल्द ही एक और कार्यक्रम की योजना बनाएंगे।

उच्च न्यायालय हिमाचल प्रदेश के मुख्य न्यायाधीश अमजद ए सैयद ने कहा कि कानूनी सहायता की जागरूकता के लिए ये काम किया जा रहा है। मुख्य न्यायधीश की अध्यक्षता में अब तक एक करोड़ व हिमाचल में 26 हजार केस सुलझाए किए गए हैं। उन्होंने कहा कि सभी को बराबर अधिकार दिए जाने के लिए विधिक सेवा प्राधिकरण की स्थापना की गई है, जिसमें निशुल्क कानूनी मदद प्रदान की जा रही है। अगर आप घर से पहुंचने में समर्थ नहीं है, तो फोन करने और भी मदद की जाती है और टीम के सदस्य घर में पहुंचकर मदद करते हैं।

उन्होंने कहा कि कई लोगों को आजादी के 75 वर्ष बाद भी अपने अधिकार पता नहीं होते है। वहीं, विधिक सेवा की ओर से जागरूकता अभियान चला रही है, जिसमें गरीब जरूरतमंद लोगों को हर प्रकार की सहायता, मध्यस्थता, मुफ्त में एडवोकेट देने सहित निशुल्क केस भी लड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि ये हमारा कर्तव्य है कि आप लोगों को पास आए और आपकी कानूनी रूप से हर संभव मदद की जाए। चीफ जस्टिस सैयद ने दो भाइयों के प्रॉपटी मामले को लेकर उदाहरण देते हुए कहा कि प्रॉपटी को लेकर ईशु ही नहीं था, वो तो भाई की बीबी गुंगट लेकर नहीं आती, तब इस मामले में समझौता हुआ। उन्होंने कहा कि लोगों को मिलने वाले अधिकारों, योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए प्रयास है, जो लगातार इसी तरह से जारी रहेगा।

इसमें राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली और हिमाचल प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के पदाधिकारी भी शामिल रहे। इस शिविर में हिमाचल प्रदेश सरकार के विभिन्न विभागों के सटॉल लगाए गए। जिनमें केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं में इच्छुक नागरिकों का पंजीकरण किया गया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है