Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,427
मामले (भारत)
200,650,253
मामले (दुनिया)
×

हिमाचल में OBC के लिए ‘स्माइल’, मंत्री ने धर्मशाला से किया शुभारंभ

ओबीसी वर्ग के लोगों को 5 लाख रुपये के ऋण पर 20 फीसदी सब्सिडी

हिमाचल में OBC के लिए ‘स्माइल’, मंत्री ने धर्मशाला से किया शुभारंभ

- Advertisement -

धर्मशाला। हिमाचल पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम कांगड़ा की अध्यक्ष एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी (Sarveen Choudhary) ने ओबीसी (OBC) वर्ग के लिए स्माइल योजना का शुभारंभ किया। यह योजना उन लोगों के चेहरे पर स्माइल (Smile) लाने के लिए केंद्र सरकार ने शुरू की है, जिनकी कोविड-19 (Covid-19) से घर की मुखिया की मृत्यु के बाद परिवार में आय का साधन नहीं रहा है। कैबिनेट मंत्री सरवीण चौधरी ने कहा कि मंगलवार से हिमाचल प्रदेश में भी ओबीसी वर्ग के लिए स्माइल योजना का शुभारंभ किया गया है। सरवीण चौधरी ने कहा कि जिन लोगों के घर के कमाने वाले या मुखिया की कोविड-19 से मृत्यु हो गई है उनके लिए यह योजना जारी रहेगी। इस योजना के अंतर्गत 20 फीसदी सब्सिडी प्रार्थी को दी जाएगी। बाकी की राशि के ऊपर 6 फीसदी ब्याज लगाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: शिमला के रिज पर हथियारों से लैस घूम रहे सेना के जवान, जानने को पढ़ें

उन्होंने कहा कि निगम द्वारा चलाई गई स्माइल योजना में अधिकतम 5 लाख रुपये लिए जा सकते हैं। इसके अतिरिक्त निगम विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत छोटे व्यापार करने के लिए भी ऋण मुहैया करवा रहा है। इसके तहत सब्जी की दुकान, कपड़े की दुकान, चाय की दुकान या किसी भी तरह का कारोबार करने के लिए अधिकतम 15 लाख रुपये निगम देता है। कृषि के क्षेत्र में डेयरी फार्म, ट्रैक्टर ट्रॉली तथा मधुमक्खी पालन के लिए निगम ऋण उपलब्ध कराता है। ट्रांसपोर्ट सेक्टर (Transport Sector) में निगम विभिन्न प्रकार की गाड़ियां जो ट्रांसपोर्ट में टैक्सी परमिट के लिए है या गुड्स कैरियर हैं उनके लिए भी 15 लाख रुपये का निगम ऋण देता है।


 

 

शिक्षा के क्षेत्र में लड़कियों को 3.50 प्रतिशत और लड़कों को 4 प्रतिशत ब्याज दर पर देश के अंदर पढ़ाई करने के लिए 15 लाख रुपये व जो विदेश में शिक्षा ग्रहण करने के लिए 20 लाख रुपये तक की ऋण उपलब्ध होता है। इसके अतिरिक्त निगम प्रदेश में प्रशिक्षण कार्यक्रम भी आयोजित करता है। इसके अंतर्गत सिलाई-कढाई, कटिंग एंड टेलरिंग, आचार-चटनी, मोबाइल रिपेयर (Mobile Repair), ब्यूटी पार्लर आदि की ट्रेनिंग दी जाती है। उन्होंने कहा कि किसी भी पात्र व्यक्ति को अगर इन योजनाओं का लाभ लेना है तो वह हिमाचल पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम के कांगड़ा स्थित मुख्यालय में भी संपर्क कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त हिमाचल प्रदेश में कहीं भी बीडीओ ऑफिस, तहसील वेलफेयर ऑफिस या ऑनलाइन आवेदन व जानकारी ले सकते हैं। इस मौके पर निगम के प्रबंध निदेशक अश्विनी चौधरी व उप-महाप्रबंधक सतीश ठाकुर भी उपस्थित रहे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है