Covid-19 Update

2,62,087
मामले (हिमाचल)
2, 42, 589
मरीज ठीक हुए
3927*
मौत
39,543,328
मामले (भारत)
352,920,702
मामले (दुनिया)

रात के अंधेरे में आकर मेरे से जानते हैं सीयू का स्टेटस, फिर करते हैं राजनीति: नैहरिया

धर्मशाला की जनता की जीत है सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी

रात के अंधेरे में आकर मेरे से जानते हैं सीयू का स्टेटस, फिर करते हैं राजनीति: नैहरिया

- Advertisement -

धर्मशाला। धर्मशाला (Dharamshala) के तपोवन स्थित विधानसभा में शुरू होने जा रहे शीतकालीन सत्र (Winter Session) से पहले एक बार फिर धर्मशाला की स्थानीय राजनीति में सीयू का मुद्दा गरमा गया है। धर्मशाला विधायक विशाल नैहरिया ने कहा कि धर्मशाला के कुछ छुटभैया नेता रात के अंधेरे में आकर उनसे केन्द्रीय विश्वविद्यालय का स्टेटस जानते हैं, फिर अगले दिन उस पर राजनीति करते हैं।

विशाल नैहरिया ने कहा कि सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी (Central University) का स्टेटस यह है कि यूनिवर्सिटी धर्मशाला में ही बनेगी। अब जब धर्मशाला में यूनिवर्सिटी बनने की राह खुली है और कुछ छुटभैया नेता ने इसका स्टेटस मेरे से पता कर लिया है, तो वह अपनी राजनितिक भूमि तलाशना शुरू कर चुके हैं। जनता का विश्वास खो चुके ऐसे नेता अब केन्द्रीय विश्वविद्यालय के बहाने अपनी राजनितिक भूमि तलाश रहे हैं। लेकिन उन्हें शायद यह नहीं पता है कि धर्मशाला की जनता समझदार है।

यह भी पढ़ें: कोरोना काल में अधिकारियों ने आपदा को बनाया अवसर, सरकारी पैसे का हुआ जमकर दुरुपयोग- अग्निहोत्री

धर्मशाला विधायक ने कहा कि पिछले दस सालों से सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी को राजनीति का अखाड़ा बनाया गया है, लेकिन जैसे ही धर्मशाला की जनता ने मुझे बेटा बनाकर सेवा करने का मौका दिया, उसी दिन से मैंने इमानदारी के साथ सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी की धर्मशाला में स्थापना को लेकर प्रयास किए हैं। ज्यूलॉजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया और सीपीडब्ल्यूडी के बीच एमओयू हो गया है और आज स्थिति यह है कि ज्यूलॉजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया की टीम दिन रात एक करके जदरांगल की भूमि का संक्षिप्त रिपोर्ट तैयार कर रही है, जिसके आधार पर जदरांगल में भवन निर्माण होगा।

उन्होंने कहा कि आये दिन छुटभैया नेता धर्मशाला में ड्रामे करके लोगों को गुमराह कर रहे हैं। अब बाजार बंद करने की बात कही जा रही है। विधायक विशाल नैहरिया ने धर्मशाला की प्रबुद्ध जनता और व्यापारी वर्ग से अपील की है कि जो छुटभैया नेताओं के झांसे में ना फंसे। सेन्ट्रल यूनिवर्सिटी बनाने के लिए प्रतिबद्ध होते, तो पिछले दस साल से सोये ना रहते।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है