Covid-19 Update

2,16,906
मामले (हिमाचल)
2,11,694
मरीज ठीक हुए
3,634
मौत
33,477,459
मामले (भारत)
229,144,868
मामले (दुनिया)

Kangra में सख्त हुआ होम क्वारंटाइन लोगों पर पहरा, Flying Squad भी गठित

Kangra में सख्त हुआ होम क्वारंटाइन लोगों पर पहरा, Flying Squad भी गठित

- Advertisement -

धर्मशाला। जिला कांगड़ा में होम क्वारंटाइन लोगों पर पहरा सख्त हो गया है। जिला प्रशासन ने एक तीन स्तरीय निगरानी सिस्टम तैयार किया है। इसमें एसडीएम की अध्यक्षता में फ्लाइंग स्क्वॉड (Flying Squad) का भी गठन किया है, जोकि ग्रामीण क्षेत्रों में बीडीओ (BDO) व शहरी क्षेत्रों में एसडीएम (SDM) की अगुवाई में औचक निरीक्षण करेगा। बता दें कि जिला कांगड़ा में बाहरी राज्यों से आए प्रत्येक व्यक्ति को 14 दिन तक होम क्वारंटाइन (Home Quarantine) किया जा रहा है, लेकिन कई बार कुछ लोग होम क्वारंटाइन जंप कर अपने परिवार व दूसरों की जान को जोखिम में डाल रहे हैं। ऐसा ही मामला विगत दिनों कांगड़ा में आया था। कांगड़ा शहर के पास अब्बदुलापुर क्षेत्र में एक होम क्वारंटाइन व्यक्ति ने ना केवल क्वारंटाइन जंप किया, बल्कि एक निजी अस्पताल भी पहुंच गया। बाद में व्यक्ति पॉजिटिव पाया गया। ऐसे ही मामलों को देखते जिला प्रशासन ने यह फैसला लिया है।

ये भी पढ़ें:  कांगड़ा में Armed और पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों के लिए बदले नियम

 

 

क्वारंटाइन के उल्लंघन पर कंट्रोल रूम को सूचित करना जरूरी

डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने बताया कि जिला कांगड़ा में होम क्वारंटाइन में रह रहे लोगों की निगरानी के लिए एक तीन स्तरीय निगरानी सिस्टम गठित किया गया है। डीसी ने कहा कि पहले स्तर की निगरानी के लिए संबंधित एसडीएम अपने क्षेत्राधिकार में बाहरी राज्यों से आने वाले हर व्यक्ति के घर के बाहर निर्धारित फार्मेट पर बोर्ड लगवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि एसडीएम ग्रामीण क्षेत्रों में आंगनबाड़ी वर्कर (Anganwadi Worker) निगरानी हेतु नियुक्त करेंगे जो 14 दिन तक प्रतिदिन उस व्यक्ति के घर जाकर सुनिश्चित करेंगे कि क्वारंटाइन व्यक्ति घर के अंदर ही रह रहा है और उस व्यक्ति में कोई खांसी, जुकाम जैसे लक्षण तो नहीं हैं। क्वारंटाइन के उल्लंघन या कोविड-19 (Covid-19) के लक्षणों के दिखने पर कर्मचारी तुरंत कंट्रोल रूम को सूचित करेंगे। उन्होंने बताया कि निगरानी के दूसरे स्तर पर ग्रामीण क्षेत्र में पंचायत के स्तर पर प्रधान, उप-प्रधान एवं वार्ड सदस्य की कमेटी और शहरी क्षेत्र में संबंधित तहसीलदार, आयुक्त नगर निगम द्वारा नामित अधिकारी, नगर परिषद और नगर पंचायत के कार्यकारी अधिकारी और संबंधित वार्ड मेंबर क्वारंटाइन में रह रहे लोगों की प्रतिदिन निगरानी करेगी। ग्रामीण निगरानी कमेटी प्रतिदिन अपनी रिपोर्ट संबंधित खंड विकास अधिकारी को जबकि शहरी निगरानी कमेटी प्रतिदिन अपनी रिपोर्ट जिला राजस्व अधिकारी को देंगे।

 

होम क्वारंटाइन की उल्लंघना पर होगी एफआईआर

राकेश कुमार प्रजापति ने बताया कि निगरानी के तीसरे स्तर पर ग्रामीण क्षेत्र में संबंधित खंड विकास अधिकारी की अध्यक्षता में जबकि शहरी क्षेत्र में एसडीएम की अध्यक्षता में फ्लाइंग स्क्वॉड प्रतिदिन औचक निरीक्षण करेगी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की फ्लाइंग स्क्वॉड अपनी दैनिक रिपोर्ट संबंधित एसडीएम को जबकि शहरी क्षेत्र की फ्लाइंग स्क्वॉड अपनी दैनिक रिपोर्ट जिला राजस्व अधिकारी को प्रस्तुत करेगी। उन्होंने कहा कि होम क्वारंटाइन की उल्लंघना पर संबंधित व्यक्ति के विरूद्व एफआईआर (FIR) दर्ज करवाई जाएगी और बिना पंजीकरण के किसी बाहरी व्यक्ति के आने की सूचना अगर निगरानी कमेटी द्वारा नहीं दिए जाने पर निगरानी कमेटी के विरूद्व भी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। डीसी ने कहा कि निगरानी के दौरान संबंधित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कुछ सावधानियां बरतने के भी निर्देश दिए गए हैं। इसमें कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर रखना, दरवाजे की घंटी, हैंडल इत्यादि ना छूना, मोबाइल (Mobile) व किताब आदि ना छूना, बार-बार हाथों को साबुन व सैनिटाइजर से साफ रखना, बीमार लोगों से ना मिलना, तीन सतह वाले मास्क लगाना इत्यादिन प्रमुख हैं।

ये भी पढ़ें: चंबाः होम क्वारंटाइन जंप कर शादी में पहुंचा युवक, निकला Corona पॉजिटिव-मचा हड़कंप

 

बाहरी राज्यों से आने वालों को 14 दिन रहना होगा होम क्वारंटाइन

जिला कांगड़ा में बाहरी राज्यों से आए प्रत्येक व्यक्ति को 14 दिन तक घर के अंदर ही रहना आवश्यक है, जिसे होम क्वारंटाइन का नाम दिया गया है। यह लोग 14 दिन तक सार्वजनिक स्थानों पर निकल नहीं सकते हैं तथा घर पर ही इन्हें अलग कमरे में रहना होगा। यदि इन लोगों में खांसी, जुकाम, बुखार या सांस लेने में तकलीफ जैसे कोई भी लक्षण 14 दिन के भीतर आते हैं तो तुरंत स्वास्थ्य विभाग द्वारा उनकी की जांच करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन अनेक लोग जिला कांगड़ा में बाहर से अपने घर लौट रहे हैं और स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकॉल (Protocol) के अनुसार इन सभी लोगों को 14 दिन तक होम कवारंटाइन में रखा जाना अनिवार्य है। जिला कांगड़ा में बाहरी राज्यों से आने वाले सभी व्यक्तियों को पोर्टल पर पंजीकरण करना अनिवार्य है।

उन्होंने कहा कि पंजीकरण की सूचना संबंधित उपमंडलाधिकारी (नागरिक) के पास उपलब्ध रहती है और उपमंडलाधिकारी इन पंजीकृत व्यक्तियों की सूची को संबंधित निगरानी कर्मचारी से दैनिक रूप से सांझा करना सुनिश्चित किया गया है। उन्होंने कहा कि यदि कोई नया व्यक्ति बाहर से आता है, जिसका नाम सूची में ना हो उसका नाम सूची में जोड़कर उपमंडल अधिकारी (नागरिक) को भेजा जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है