Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,380,438
मामले (भारत)
227,512,079
मामले (दुनिया)

बरागटा की सीट पर कोटखाई से बीजेपी टिकट के लिए ये रहा चेहरा – कर दिया चुनाव लड़ने का ऐलान

बोले, पार्टी के बडे पदाधिकारियों को भेज दिया है बॉयोडाटा

बरागटा की सीट पर कोटखाई से बीजेपी टिकट के लिए ये रहा चेहरा – कर दिया चुनाव लड़ने का ऐलान

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के पूर्व महामंत्री और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग वुमन एंड चाइल्ड वेलफेयर से सेवानिवृत्त हुए संयुक्त निदेशक एमआर संगरोली (MR Sangroli) ने हिमाचल प्रदेश के जुब्बल नावर कोटखाई विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। संगरोली ने कहा है कि उन्होंने अपना बॉयोडाटा पत्र के साथ हिमाचल बीजेपी प्रभारी अविनाश खन्ना, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप, प्रदेश संगठन मंत्री पवन राणा, कोटखाई के चुनाव प्रभारी सुरेश भारद्वाज को सौंप दिया है। इसके अलावा ईमेल के माध्यम से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को भी बॉयोडाटा भेजा है। चूंकि, नरेंद्र बरागटा (Narendra Bragta) के निधन के चलते यहां (By Election) उपचुनाव होने हैं।

यह भी पढ़ें: सुन लो! इस वक्त होंगे हिमाचल में उपचुनाव-कौन जीतेगा ये भी अभी से जान लो

संगरोली ने कहा मेरा विधानसभा क्षेत्र जुब्बल नावर कोटखाई है, मैं ग्राम पंचायत बरथाटा का स्थाई निवासी हूं। मैंने 33 वर्षों तक प्रदेश के जनजातिय विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, वुमन एंड चाइल्ड विभाग में तृतीय श्रेणी से लेकर उच्च श्रेणी संयुक्त निदेशक के पद पर कार्य किया। जिसमें मैंने लगभग 30 विभागों के जनजातीय उपयोजना, अनुसूचित जाति योजना, केंद्रीय प्रायोजित योजनाएं विशेष केंद्र सहायता के तहत बजट प्लान 30 विभागों की योजनाओं का कार्यान्वयन, देखभाल, मूल्यांकन सुनिश्चित करना तथा जिला स्तरीय योजनाओं की समीक्षा बैठक को और पुस्तकों के रूप में वित्त विभाग में लिस्ट ऑफ स्कीम्स बजट सहित पूरे प्रदेश में कार्यान्वयन कराया है।

 

 

इससे पूर्व में हिमाचल प्रदेश के 3 लाख कर्मचारी वर्ग ब्लॉक यूनिट से लेकर राज्य स्तर तक सचिव, उपप्रधान, प्रधान के पदों पर विभिन संगठनों में 20 वर्ष कर्मचारी हितों की लड़ाई लड़ी है। मैं 4 वर्षों तक प्रदेश महासंघ का राज्य संयुक्त सचिव और 4 वर्षों तक बड़ी जिम्मेदारी के पद पर महामंत्री रहा हूं। प्रदेश के हर एक सीएम के कार्यकाल में 30 से 35 दिनों के हर संघर्ष में एक योद्धा के तौर पर कर्मचारी हितों की लड़ाई लड़ी है। काम नहीं वेतन नहीं की राज्यव्यापी हड़ताल में 21 दिन तक हिमाचल और हरियाणा की सेंट्रल जेल अंबाला में भी रहा हूं। हिमाचल, पंजाब, यूटी चंडीगढ़ और हरियाणा की संयुक्त संघर्ष समितिओं में हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) का कई कमेटियों में प्रतिनिधित्व किया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है