Covid-19 Update

2, 85, 014
मामले (हिमाचल)
2, 80, 820
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,140,068
मामले (भारत)
528,504,980
मामले (दुनिया)

हिमाचलः धमाकों से हिली धरती, घरों से बाहर निकले लोग, ये हो सकती है वजह

प्रशासन के पास भी इस संदर्भ में कोई जानकारी नहीं थी

हिमाचलः धमाकों से हिली धरती, घरों से बाहर निकले लोग, ये हो सकती है वजह

- Advertisement -

मंडी। आज दोपहर बाद मंडी जिला की धरती दो जोरदार धमाकों की आवाज से कांप उठी। धमाके इतने जोरदार थे कि लोगों के घर हिल उठे, दरवाजें-खिड़कियां झनझना उठी। ऐसा होता देख लोग डर के मारे अपने घरों से बाहर निकल आए और यह पता लगाने में जुट गए कि आखिर ये हुआ क्या। अधिकतर लोगों ने पहले धमाके को भूकंप माना और सोशल मीडिया पर भूकंप से संबंधित पोस्ट भी शेयर कर दी। इसके काफी देर बाद जब दूसरा धमाका हुआ तो लोग फिर से सकते में आ गए। अचानक सोशल मीडिया पर धमाकों को लेकर पोस्ट शेयर की जाने लगी। सभी अपनी-अपनी तरफ से तरह-तरह के क्यास लगाने लग गए। क्योंकि यह धमाके सिर्फ मंडी जिला के स्थान विशेष में ही नहीं बल्कि पूरे जिला में सुनाई और महसूस किए गए। जब इस बारे में प्रशासन से जानकारी चाही तो प्रशासन ने इसपर पूरी तरह से अनभिज्ञता जाहिर की। क्योंकि प्रशासन के पास भी इस संदर्भ में कोई जानकारी नहीं थी। ना तो जिला में किसी ब्लास्ट होने की पूर्व सूचना थी और ना ही भूकंप आदि अन्य प्रकार की आपदा को लेकर कोई अपडेट आया था।

यह भी पढ़ें- हिमाचल कांग्रेस को झटकाः प्रदेश सचिव धर्मपाल चौहान ने थामा AAP का दामन

 

सोनिक बूम माना जा रहा है धमाकों का कारण

एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि जिला भर से धमाकों को लेकर पुलिस के पास कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने अपना पुराना अनुभव सांझा करते हुए बताया कि जब वे कुल्लू जिला में तैनात थी तो उस वक्त भी मनाली में आधी रात को ऐसे धमाके सुनाई दिए थे। बाद में पता करने पर मालूम हुआ कि ये सोनिक बूम था। उन्होंने बताया कि अभी तक सिर्फ यही अनुमान लगाया जा रहा है क्योंकि अभी तक इस संदर्भ में कोई भी स्पष्ट जानकारी मिल पाई है। यदि कोई जानकारी मिलती है तो उसे मीडिया के साथ जरूर सांझा किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- हिमाचल विधानसभा के बाहर आउटसोर्स कर्मियों का सैलाब, ‘एक बार पॉलिसी फिर बार-बार जयराम जी’

क्या होता है सोनिक बूम

जब किसी चीज की रफ्तार ध्वनि की रफ्तार से ज्यादा होती है तो उसको सुपरसोनिक रफ्तार कहते हैं। ध्वनि की रफ्तार 332 मीटर प्रति सेकेंड होती है लेकिन जब कोई चीज 332 मीटर प्रति सेकेंड की रफ्तार से भी ज्यादा रफ्तार से चलती है तो उसको सुपरसोनिक स्पीड कहा जाता है। विमान हवा में चलते समय ध्वनि तरंगें पैदा करता है। जब विमान ध्वनि की रफ्तार से कम गति से चलता है तो कोई खास फर्क नहीं पड़ता लेकिन जब विमान ध्वनि की रफ्तार से तेज चलता है तो यह सोनिक बूम पैदा करता है। बड़ी मात्रा में ध्वनि ऊर्जा पैदा होती है। जिस वजह से विमान के आने से पहले कोई आवाज नहीं सुनाई देती लेकिन विमान के गुजरने के बाद ही तेज धमाके जैसी आवाज आती है। इस वजह से हमें विस्फोट या बादलों के गड़गड़ाहट जैसी आवाज सुनाई देती है। इस मामले में भी यही अनुमान लगाया जा रहा है कि यहां से कोई विमान काफी तेज रफ्तार से गुजरा होगा जिस कारण यह सोनिक बूम हुआ और पूरे जिले में इसका धमाका सुनाई दिया और कंपन्न महसूस हुआ।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है