Covid-19 Update

2,00,282
मामले (हिमाचल)
1,93,850
मरीज ठीक हुए
3,423
मौत
29,853,870
मामले (भारत)
178,745,302
मामले (दुनिया)
×

फ्रंटलाइन वर्कर्स घोषित ना होने से निजी बस ऑपरेटर खफा, लगाया यह आरोप

ऑपरेटर संघ के अध्यक्ष राजेश पराशर बोले- सरकार कर रही सौतेला व्यवहार

फ्रंटलाइन वर्कर्स घोषित ना होने से निजी बस ऑपरेटर खफा, लगाया यह आरोप

- Advertisement -

ऊना। हिमाचल प्रदेश निजी बस ऑपरेटर संघ (Himachal Pradesh Private Bus Operators Association) के प्रदेश अध्यक्ष राजेश पराशर ने सरकार पर सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने घोषणा की थी कि प्रदेश में फ्रंटलाइन वर्कर्स (Frontline Workers) के तौर पर महामारी में कार्य करने वाले प्रदेश के निजी बस ऑपरेटरों के चालक व परिचालकों, प्रदेश के टैक्सी ऑपरेटर, ऑटो ऑपरेटरों को भी प्राथमिकता पर कोविड वैक्सीन (Covid Vaccine) लगाई जाएगी, लेकिन आज हिमाचल प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने एक अधिसूचना जारी की हैस जिसमें केवल मात्र हिमाचल पथ परिवहन निगम के चालक व परिचालक और हिमाचल परिवहन निगम (HRTC) के डीजल पंप ऑपरेटर को ही इस अधिसूचना में शामिल किया है।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः इन शिक्षकों सहित ये लोग फ्रंटलाइन वर्कर्स घोषित, लगेगा कोरोना टीका

उन्होंने कहा कि प्रदेश के समस्त निजी बस ऑपरेटरों में इसको लेकर रोष है। वह अपने आप को प्रदेश सरकार की तरफ से ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। निजी बस ऑपरेटर प्रदेश में 3,500 निजी बसों का संचालन करके प्रदेश की जनता को सुविधा उपलब्ध करवाते हैं, परंतु प्रदेश सरकार ने हमेशा एक ही आंख से हिमाचल पथ परिवहन निगम को देखा है, जिससे प्रदेश के निजी बस ऑपरेटरों का भारी रोष है। वैश्विक महामारी के चलते पूर्व में भी प्रदेश के निजी बस ऑपरेटरों ने हिमाचल प्रदेश से भारतवर्ष के विभिन्न प्रदेशों में प्रवासी मजदूरों को छोड़ने और वहां पर जो हिमाचल के लोग रह रहे हैं उन्हें निशुल्क अपने प्रदेश में लाने का कार्य किया है, जिसमें हिमाचल पथ परिवहन निगम का कोई सहयोग नहीं रहा है। हमारी प्रदेश सरकार से मांग है कि हमारे साथ सौतेला व्यवहार छोड़े और हमें भी प्रदेश का नागरिक समझें और हिमाचल पथ परिवहन निगम के चालक (Driver) व परिचालक और डीजल पंप ऑपरेटरों की तरह निजी बस ऑपरेटरों के चालक परिचालक व उनके मैकेनिक आदि को भी फ्रंटलाइनर के तौर पर वैक्सीन लगाई जाए।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है