Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

#Kangra निजी बस ऑपरेटरों के हाथ बेलचा और गैंती, NH पर क्या करने उतरे- जाने

जनहित में नेशनल हाईवे पर पड़े गड्ढों को भरने का लिया फैसला

#Kangra निजी बस ऑपरेटरों के हाथ बेलचा और गैंती, NH पर क्या करने उतरे- जाने

- Advertisement -

कांगड़ा। मटौर-शिमला नेशनल हाईवे (Matour-Shimla National Highway) पर कांगड़ा से रानीताल तक गड्ढों की भरमार है। यह गड्ढे जानलेवा साबित हो रहे हैं। बावजूद इसके नेशनल हाईवे अथॉरिटी ने गड्ढों को भरकर लोगों को राहत देने को कदम नहीं उठाएं हैं। नेशनल हाईवे अथॉरिटी तो शायद अपना कर्तव्य भूल चुकी है, वहीं एनएच पर गड्ढों को भरने का बीड़ा अब जिला कांगड़ा निजी बस ऑपरेटर वेलफेयर सोसाइटी (District Kangra Private Bus Operators Welfare Society) ने उठाया है। सोसाइटी के पदाधिकारियों और सदस्यों ने मटौर-शिमला नेशनल हाईवे पर बाथु पुल से लेकर कांगड़ा तक गड्ढों को मिट्टी से भरने की फैसला लिया।


सोसाइटी के पदाधिकारी व सदस्य जहां गड्ढा दिखा, बेलचा और गैंती से मिट्टी डालककर भरते गए। वेलफेयर सोसायटी के पदाधिकारियों में कोषाध्यक्ष दुर्गा दास, मीडिया प्रभारी विनय सिंह बेदी, सोसाइटी के अड्डा प्रभारी ठाकर टिंकू, अजय परिहार और संदीप वालिया ने बताया कि यह क्रम आगे भी जारी रहेगा। उन्होंने बताया कि नेशनल हाई-वे की खस्ताहाल को लेकर कई बार नेशनल हाईवे अथॉरिटी (National Highway Authority) को चेताया गया, मगर कोई सुनवाई नहीं हुई और आखिर में यूनियन के पदाधिकारियों ने इनको भरने का काम अपने कंधों के ऊपर उठा लिया। बाथु पुल से लेकर कांगड़ा तक जितने भी जानलेवा गड्ढे थे, उनको स्वयं भरना शुरू कर दिया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है