Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,380,438
मामले (भारत)
227,512,079
मामले (दुनिया)

Big Breaking: हिमाचल में 1st June से नहीं चलेंगी Private Buses, ऑपरेटरों ने खड़े किए हाथ

Big Breaking: हिमाचल में 1st June से नहीं चलेंगी Private Buses, ऑपरेटरों ने खड़े किए हाथ

- Advertisement -

ऊना। हिमाचल प्रदेश में पहली जून से बसें चलाने के सरकार के निर्णय को निजी बस ऑपरेटरों ने मानने से इंकार कर दिया है। यानी निजी बस (Private Buses) ऑपरेटर पहली जून से बसें नहीं चलाएंगे। इस बाबत आज निजी बस ऑपरेटर संघ की एक बैठक वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से प्रदेश अध्यक्ष राजेश पराशर (Rajesh Parashar) की अध्यक्षता में हुई। बैठक में प्रदेश के सभी जिला की यूनियन ने भाग लिया और बैठक में यह तय किया गया कि ज़ब तक सरकार निजी बस ऑपरेटरों को बुलाकर बातचीत नहीं करेगी तब तक प्रदेश में कोई भी निजी बस नहीं चलेगी। निजी बस ऑपरेटरों का कहना है कि उनके लिए 60 प्रतिशत क्षमता में बसे चलाना मुमकिन नहीं है। क्योंकि सरकार ने इसके एवज में निजी बस ऑपरेटर को कोई राहत देने की घोषणा नहीं की है, जिस कारण निजी बस ऑपरेटर अपनी बसें चलाने में असमर्थ है। याद रहे कि जयराम सरकार ने शनिवार को कैबिनेट की बैठक में ये निर्णय लिया है कि पहली जून से प्रदेशभर में 60 प्रतिशत क्षमता के साथ एचआरटीसी व निजी बसें चलनी शुरू होंगी।

यह भी पढ़ें: कोरोना ब्रेकिंगः Himachal में नए मामले, एक ही परिवार के तीन सदस्य निकले पॉजिटिव

सरकार समान व्यवहार करें

निजी बस ऑपरेटर यूनियन (Private bus operator union) का कहना है कि प्रदेश सरकार एचआरटीसी और निजी बस ऑपरेटर को अलग-अलग पहलू में तोल रही है। जबकि एचआरटीसी भी एक ऑपरेटर है और निजी बस ऑपरेटर भी एक ऑपरेटर, इसलिए सरकार को चाहिए कि दोनों के साथ सामान व्यवहार करें। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा है कि जब तक सरकार प्रदेश के निजी बस ऑपरेटरों को बातचीत के लिए नहीं बुलाएगी, तब तक कोई भी निजी बस नहीं चलेगी। हिमाचल प्रदेश में कुछ निजी बस ऑपरेटर ऐसे भी हैं, जिनके मात्र रोजी रोटी का साधन ही बसें है जब 60 प्रतिशत क्षमता में बसें चलाने की योजना बनाई जा रही है तो वह निजी बस ऑपरेटर बिल्कुल ही कंगाल हो जाएगा, जिसका परिवार मात्र बस से चल रहा हो।

यह भी पढ़ें: घर नहीं जंगल में टेंट लगाकर Quarantine हुआ Goa से लौटा युवक

इसलिए इस व्यापार को पुनर्जीवित करने के लिए सरकार को चाहिए कि वह बैंक से बिना ब्याज एवं कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराएं या कोई सरकारी राहत निजी बस ऑपरेटरों को दे। निजी बस ऑपरेटरों ने एकमत से किराये में बढ़ोतरी की मांग भी की। बैठक में सिरमौर जिला के प्रधान मामराज शर्मा, शिमला सिटी निजी बस ऑपरेटर यूनियन के महासचिव सुनील चौहान अमित चड्ढा कुल्लू के भूपेश नंदन, चंदन करीर, वीरेंद्र कंवर, रामपुर से कुलवीर सिंह गिल, शिमला से अनिल वर्मा, चम्बा से नरेश महाजन और रवि महाजन ऊना से दिनेश सैनी, कांगड़ा से अजय परिहार, अखिल सूद, बिलासपुर से अनिल मिंटू सहित लगभग 150 निजी बस ऑपरेटर ने भाग लिया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है