हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2017

BJP

44

INC

21

अन्य

3

हिमाचल प्रदेश चुनाव परिणाम 2022 लाइव

3,12, 506
मामले (हिमाचल)
3, 08, 258
मरीज ठीक हुए
4190
मौत
44, 664, 810
मामले (भारत)
639,534,084
मामले (दुनिया)

डीडीयू अस्पताल में दूध-मिठाई की शॉप की जगह खोल दी राशन की दुकान

अस्पताल प्रबंधन ने मिल्क फेड और एचपीएमसी को भेजा नोटिस, होगी कार्रवाई

डीडीयू अस्पताल में दूध-मिठाई की शॉप की जगह खोल दी राशन की दुकान

- Advertisement -

शिमला। एक बहुत बड़ी लापरवाही सामने आई है। डीडीयू अस्पताल प्रबंधन (DDU Hospital Management) ने मिल्कफेड और एचपीएमसी (MILKFED and HPMC) को मिठाई और दूध के प्रॉडक्ट खोलने का आदेश दिया था, मगर उसकी जगह राशन की दुकान ही खोल दी गई है। इस पर अस्पताल प्रबंधन अब सख्त हो गया है। अस्पताल प्रबंधन ने एक कमेटी बना कर दुकानों का निरीक्षण किया। कमेटी की जांच आने के बाद कार्रवाई होगी। वहीं अस्पताल प्रबंधन का तर्क है कि अस्पताल परिसर में मिल्कफेड और एचपीएमसी के उत्पाद के आउटलेट (Outlet) खोलने की अनुमति दी थीं लेकिन आउटलेट में मिल्कफेड के उत्पाद के बजाय राशन की दुकान चल रही है। इस लापरवाही पर मिल्कफेड के एमडी को नोटिस भेजा है और जवाब तलब किया है।

यह भी पढ़ें- आईजीएमसी में रोबोट सर्जरी के लिए सरकार को भेजा प्रस्ताव

दरअसल अस्पताल प्रशासन ने मरीजों और तीमारदारों की सुविधा के लिए अस्पताल परिसर में मिल्कफेड और एचपीएमसी के उत्पाद के आउटलेट खोलने की अनुमति दी थी लेकिन आउटलेट में मिल्कफेड के उत्पाद के बजाय राशन की दुकान चल रही है। मामले की जानकारी मिलने के बाद डीडीयू अस्पताल प्रबंधन ने इसकी जांच के लिए कमेटी का गठन किया है। अस्पताल के एमएस डॉ लोकेंद्र शर्मा (Dr. Lokendra Sharma) ने कहा कि इस तरह की एक शिकायत मिली है और मौके पर जाकर भी दुकानों का निरीक्षण किया गया है। कमेटी की जांच रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर कार्रवाई होगी।अस्पताल प्रबंधन की ओर से मिल्कफेड के एमडी भूपेंद्र अत्री (MD Bhupendra Attri) को भी नोटिस भेजा गया है। नोटिस माध्यम से उनसे जवाब मांगा गया है कि मिल्कफेड की दुकान में अन्य सामान को किस आधार पर बेचने की परमिशन दी गई है। वहीं इस संबंध में डॉ लोकेंद्र शर्मा ने कहा कि एमएस डीडीयू अस्पताल अस्पताल परिसर में दुकानें खोलने की अनुमति तभी दी जाती है जब उसमें तय मानकों के तहत सामान बिकता हो। अन्य प्रोडक्ट (product) को बेचने की अनुमति नहीं होती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है