Covid-19 Update

2,18,000
मामले (हिमाचल)
2,12,572
मरीज ठीक हुए
3,646
मौत
33,617,100
मामले (भारत)
231,605,504
मामले (दुनिया)

आनी के नागणी में जमीन से निकले तथाकथित लावे के सैंपल जांच को भेजे गए

उपायुक्त कुल्लू ऋचा वर्मा ने कहा-बिजली के खंबे के नीचे अर्थवायरिंग में हुआ था ब्लास्ट

आनी के नागणी में जमीन से निकले तथाकथित लावे के सैंपल जांच को भेजे गए

- Advertisement -

आनी। जिला कुल्लू के आनी उपमंडल की ग्राम पंचायत लाफली के गांव नागणी (Nagani Village) में बिजली के खंबे के नीचे कथित तौर पर लावा (Lava) निकलने की वीडियो वायरल (Viral Video) हुई थी। अब इस पूरे मामले में कुल्लू प्रशासन (Kullu Administration) ने संज्ञान लिया। प्रशासन की ओर से आज एक टीम को घटना स्थल पर भेजा गया। टीम ने घटना स्थल पर पहुंचकर जमीन के अंदर से निकले तरल पदार्थ जोकि अब ठोस अवस्था में है के सैंपल (Sample) लेकर जांच के लिए भेजे हैं। इसके साथ ही प्रशासन की टीम ने आसपास के लोगों से भी पूछताछ की है। लोगों ने जांच टीम को बताया कि सुबह 8 बजे के बाद अचानक बिजली के खंबे में स्पार्किंग (Electric Pole Sparking) होने के बाद धुंआ नजर आने लगा था। इसके बाद खंबे के नीचे ब्लास्ट हुआ और जमीन के नीचे से काले रंग का तरल पदार्थ निकला। यह तरल पदार्थ कुछ समय में ठोस हो गया। इस मामले की सोशल मीडिया (Social Media) में वीडियो पिछले कल ही वायरल हुई है, लेकिन बताया जा रहा है कि यह घटना 10 से 15 दिन पहले की है।

यह भी पढ़ें: तो सच में #Kullu के आनी में फूटा लावा, सच्चाई का पता लगाएगी टीम

उपायुक्त कुल्लू डाक्टर ऋचा वर्मा (Deputy Commissioner Kullu Doctor Richa Verma) ने बताया कि सोशल मीडिया में वायरल वीडियो में यह क्लेम किया जा रहा है कि आनी के लाफाली में धरती से ऐसा पदार्थ निकल रहा है जिसे लावा बताया जा रहा है। प्रशासन के ध्यान में आने के बाद तुरंत टीम को घटना स्थल पर भेजा गया है और वहां के लोगों से पूछताछ की गई है। घटना स्थल से निकले पदार्थ का सैंपल भी लिया गया है। इसके सैंपल को जांच के लिए भेजा जा रहा है। उपायुक्त कुल्लू डाक्टर ऋचा वर्मा ने कहा कि फिलहाल इसको लेकर कुछ नहीं कहा जा सकता है, लेकिन जो टीम घटना स्थल पर गई थी उन्होंने संभावना जताई है कि बिजली के खंबों के नीचे ब्लास्ट हुआ था। इसके बाद कोई पदार्थ निकला जो बाद में ठोस बन गया।उन्होंने कहा कि बिजली के खंबों के नीचे अर्थवायरिंग की जाती है। इससे अर्थवायरिंग में प्रयोग किया गया कोई मैटेरियल हो सकता है, लेकिन अब वहां पर किसी भी तरह का कोई तरल पदार्थ नहीं निकल रहा है। उपायुक्त कुल्लू डाक्टर ऋचा वर्मा कहा कि इसकी जांच के बाद पूरी जानकारी सामने आ पाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है