Covid-19 Update

3,05, 383
मामले (हिमाचल)
2,96, 287
मरीज ठीक हुए
4157
मौत
44,170,795
मामले (भारत)
590,362,339
मामले (दुनिया)

एचपीयू लाइब्रेरी में स्टूडेंट्स के बैठने के लिए जगह नहीं, भड़की एसएफआई ने दिया धरना

वाईफाई की सुविधा देने और 400 से 500 छात्रों की क्षमता वाला सेंट्रल रूम खोलने की उठाई मांग

एचपीयू लाइब्रेरी में स्टूडेंट्स के बैठने के लिए जगह नहीं, भड़की एसएफआई ने दिया धरना

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (HPU) में की लाइब्रेरी में जगह की कमी चल रही हैं। इस कारण स्टूडेंट्स (Students) को परेशानी उठानी पड़ रही है। इसके चलते आज एसएफआई विश्वविद्यालय की इकाई ने धरना दे दिया। प्रदर्शन के दौरान विश्वविद्यालय इकाई उपाध्यक्ष अविनाश (Avinash) ने कहा कि लंबे समय से एसएफआई विश्वविद्यालय प्रशासन और लाइब्रेरी प्रशासन से कमियां दूर करने की मांग उठाई हैं। आलम यह है कि लाइब्रेरी के अंदर स्टूडेंट्स को बैठने तक की जगह नहीं है। मगर विश्वविद्यालय प्रशासन कोई सुध ही नहीं ले रहा है। उन्होंने मांग उठाई कि लाइब्रेरी के अंदर स्टूडेंट्स के बैठने की क्षमता को बढ़ाया जाए।

यह भी पढ़ें:HPBOSE ने जारी किया टेट टीजीटी नॉन मेडिकल व भाषा अध्यापक परीक्षा का शैड्यूल

वहीं एसएफआई विश्वविद्यालय इकाई के सह सचिव सन्नी सेक्टा (Sunny Sekta) ने कहा कि परीक्षाएं नजदीक हैं। इसलिए स्टूडेंट्स पढ़ने के लिए लाइब्रेरी में आ रहे हैं। मगर लाइब्रेरी के अंदर तो बैठने तक की जगह नहीं है। ऐसे में छात्र अपनी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करेंगे। यदि विश्वविद्यालय के प्रशासन जल्द से जल्द विश्वविद्यालय के अंदर सेंट्रल रीडिंग रूम (Central reading room) खोले। इसके अंदर 400 से 500 छात्रों की बैठने की क्षमता होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन एक तरफ डिजिटल कैंपस की बात तो करता है, मगर अभी तक स्टूडेंट्स को वाईफाई तक की सुविधा नहीं दी गई। इस कारण छात्र अपनी समस्याएं कैसे सुलझा पाएंगे।

खास कर पीएचडी छात्रों को शोध कार्य में बहुत परेशानी आ रही है। विश्वविद्यालय प्रशासन को छात्रों को मूलभूत सुविधाएं प्रदान की जानी चाहिएं। सुविधाएं प्रदान करने में विश्वविद्यालय प्रशासन लगातार नाकाम ही रहा है। यही कारण है कि एनआईआरएफ की रैंकिंग में 200 स्टूडेंट्स रैंकिंग से बाहर हो चुके हैं। उन्होंने साफ शब्दों में चेताया कि इन मांगों को जल्द पूरा नहीं किया गया तो फिर प्रशासन का घेराव किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है