Covid-19 Update

2,62,087
मामले (हिमाचल)
2, 42, 589
मरीज ठीक हुए
3927*
मौत
39,799,202
मामले (भारत)
355,229,273
मामले (दुनिया)

इस देश में सैनिकों से यूज अंडरगार्मेंट्स मांग रही सरकार, बताई यह वजह

कोरोना के चलते नार्वे में सप्लाई पर पड़ा असर, मजबूरन दिया यह आदेश

इस देश में सैनिकों से यूज अंडरगार्मेंट्स मांग रही सरकार, बताई यह वजह

- Advertisement -

कोरोना वायरस (Corona Virus) को आए दो साल से ज्यादा वक्त बीत चुका है। इस दौरान अलग-अलग वेरिएंट (Variants) भी सामने आए हैं। लॉकडाउन (Lockdown) और कामकाज ठप होने से कई देशों की आर्थिक स्थिति ही बिगड़ गई है। देश और वहां की जनता की सुरक्षा के लिए अब वहां की सरकारों को कई तरह के अजीबो-गरीब आदेश देने पड़ रहे हैं। ऐसा ही एक देश है नार्वे (Norway) जिसकी कोरोना ने आर्थिक स्थिति ही बिगाड़ के रख दी है।अब वहां की सरकार को मजबूरन अपने सैनिक (Soldiers) को ऐसा आदेश देना पड़ रहा है कि आपकी हंसी ही छूट जाएगी।नार्वे सरकार ने अपने सैनिकों को आदेश दिए है कि अपनी ट्रेनिंग (Training) के दौरान जो अंडरगार्मेंट्स (Underwears)इस्तेमाल किए हैं, उनको वापस करें।

यह भी पढ़ें: एक तरबूज के लिए चढ़ा दी हजारों सैनिक की बलि, भारत का सबसे अविश्वसनीय युद्ध

आम तौर पर ट्रेनिंग करने वाले सैनिकों को उनका अंडरगार्मेंट्स वापस नहीं करना होता था, लेकिन कोरोना ने सैनिकों के ट्रेनिंग में इस्तेमाल की जाने वाली अंडरगार्मेंट्स की सप्लाई को कम कर दी है। इसके कारण सरकार को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैए इसलिए नॉर्वे सरकार ने यह फैसला लिया है। बता दें कि नॉर्वे नाटो (NATO) का सदस्य है और यह एक ऐसा देश है, जिसकी सीमा रूस (Russia) से लगी हुई है।

 

क्या है पूरा मामला

नॉर्वे की सरकार के मुताबिक हर साल 8000 पुरुष और महिलाएं सैन्य सेवा के लिए भर्ती किए जाते हैं। ऐसे में सरकार ट्रेनिंग के लिए उन्हें नए-नए अंडरगार्मेंट्स देती है, जो ट्रेनिंग खत्म हो जाने के बाद इसे लौटाना नहीं होता है, लेकिन कोरोना के कारण इसकी सप्लाई पर असर पड़ा है और सरकार को अंडरगार्मेंट्स नहीं मिल रही है। हालात को देखते हुए सरकार ने यह फैसला किया कि जिन सैनिकों की ट्रेनिंग खत्म होती जा रही है, उन्हें अपने पुराने अंडरगार्मेंट्स को वापस सरकार को लौटाना होगा। सरकार इसे साफ करके नए सैनिकों के ट्रेनिंग के लिए इस्तेमाल करेगी। इस पर सरकार का कहना है कि वह ऐसा करने के लिए मजबूर है।

 

सरकार ने कमी को माना

सार्वजनिक प्रसारक एनआरके के मुताबिक सरकार द्वारा यह कहा जा रहा है कि सैनिकों के इस्तेमाल किए हुए अंडरवियर को फिर से उपयोग करने की योजना है। रक्षा रसद प्रवक्ता हंस मीसिंगसेट ने एनआरके को बताया कि वापस किए हुए अंडरगार्मेंट्स को पहले धोया जाता है और फिर इसकी जांच होती है। जब सब कुछ सही पाया जाता हैए तब जाकर इन अंडरगार्मेंट्स को नए सैनिकों को दिया जाता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है