Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

ये है दुनिया की वो जगह जहां घड़ी में कभी नहीं बजते 12-रोचक है किस्सा

सुंदरता के लिए मशहूर है ये शहर,11 नंबर से लोगों का है लगाव

ये है दुनिया की वो जगह जहां घड़ी में कभी नहीं बजते 12-रोचक है किस्सा

- Advertisement -

दुनिया में एक शहर ऐसा है जहां की (Clock never Rings 12) घड़ी में कभी 12 नहीं बजते। किस्सा बेहद रोचक है,सुंदरता के लिए मशहूर इस शहर के लोगों को 11 नंबर से है लगाव। तो आपको बताते हैं कि स्विट्जरलैंड (Switzerland)में है ये शहर, जहां कभी 12 ही नहीं बजते हैं। सोलोथर्न (Solothurn) में एक ऐसी घड़ी है, जिसमें 11 तो बजते हैं लेकिन 12 नहीं। क्योंकि यहां के लोग 11 नंबर से बेहद प्यार करते हैं।

यह भी पढ़ें: दुनिया का ऐसा गांव जहां का हर बाशिंदा है करोड़पति

सोलोथर्न शहर की ज्यादातर चीजों का डिजाइन 11 नंबर पर आधारित होता है। इस शहर के चर्च और चौपलों की संख्या भी 11.11 है। ऐतिहासिक झरने, संग्रहालय और यहां तक की टावर भी 11 नंबर के हैं। इस शहर के मुख्य चर्च सेंट उर्सूस में भी आपको 11 नंबर के प्रति लोगों में लगाव देखने को मिलेगा। बताया जाता है कि सोलोथर्न का सेंट उर्सूस चर्च 11 साल में बनकर तैयार हुआ था। उधर की सीढ़ियों के तीन सेट हैं, प्रत्येक सेट में 11 पंक्तियां 11 दरवाजे 11 घंटियां और 11 वेदियां हैं। 11 नंबर से लोगों के लगाव का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यहां हर चीज में 11 नंबर नजर आता है। इस शहर के लोगों के जीवन में 11 नंबर का बेहद (Importance) महत्व है।


यह भी पढ़ें: ये है दुनिया की वो घड़ी जिसमें 9 से पहले बजते हैं 10-लोग इसलिए करते हैं इसका इस्तेमाल

बताया जाता है कि यहां के लोग11वें जन्मदिन को विशेष तरह से सेलिब्रेट करते हैं। जन्मदिन के मौके पर गिफ्ट किया जाने वाला उपहार भी 11 नंबर पर आधारित होता है। यही वजह कि यहां की घड़ी एक पर कभी भी 12 नहीं बजते। शहर के टाउन स्क्वायर (Town Square of the City) पर एक घड़ी लगी है, जिसमें सिर्फ 11 सुइयां हैं। 12 नंबर की सुई ही गायब है। यहां के लोगों के 11 नंबर के प्रति इतने लगाव की वजह पौराणिक मान्यता है, जिसके अनुसार, एक समय में सोलोर्थन के लोग काफी मेहनत करते थे, बावजूद उनकी जिंदगी में (Happiness) खुशियां नहीं थी। कहते हैं कि इसी दौरान शहर की पहाड़ियों से एल्फ आने लगे और लोगों का हौसला बढ़ाने लगा। एल्फ के आने से उनके जीवन में खुशहाली भी आई। याद रहे कि जर्मनी (Germany) भाषा में (Elf) एल्फ का अर्थ 11 से होता है। इसलिए यहां के लोगों ने एल्फ को 11 नंबर जोड़ा । एल्फ के एहसानों को याद करने के लिए ही यहां के लोग 11 नंबर को तवज्जो देते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है