Covid-19 Update

2,21,306
मामले (हिमाचल)
2,16,288
मरीज ठीक हुए
3,703
मौत
34,043,758
मामले (भारत)
240,610,733
मामले (दुनिया)

बदहाली के आंसू बहा रहा है कुल्लू का तीर्थन घाटी, टूटी सड़कों की दशकों से नहीं हुई मरम्मत

तीर्थन घाटी तक जाने वाली सड़क की प्रशासन और सरकार ने नहीं ली सुध

बदहाली के आंसू बहा रहा है कुल्लू का तीर्थन घाटी, टूटी सड़कों की दशकों से नहीं हुई मरम्मत

- Advertisement -

परस राम भारती/ बंजार। हिमाचल (Himachal) के कुल्लू जिले (Kullu District) के बंजार (Banjar) का तीर्थन घाटी बेहद खूबसूरत है। यहां का विश्व धरोहर ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क और ट्राउट मछली के लिए पर्यटकों को अपनी ओर खींचती है। बंजार की इस घाटी से पर्यटक प्राकृतिक सौन्दर्य से रूबरू होते है, लेकिन इस बेहद खूबसूरत जगह को विकसित करने में हिमाचल सरकार ने उदासीन रवैया अपनाया है। जिस कारण बेहद प्यारे जगह पर टूरिस्टों को पहुंचने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें:हिमाचल: मेडिकल डिवाइस पार्क को केंद्र से मिली मंजूरी, 10 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

लोगों को करना पड़ रहा परेशानियों का सामना

दरअसल, दशकों बीत जाने के बावजूद भी तीर्थन घाटी (Tiertrhan Velly) तक जाने वाली सड़क की प्रशासन और सरकार ने सुध नहीं ली है। दशकों पहले बनी सड़कों में आजतक पक्की नालियों और पैरापीट का निर्माण नहीं हो पाया है। सड़क पर कुछ स्थानों में पानी निकासी के लिए बनाई गई, नालियों की दुर्दशा होने के कारण स्थानीय लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वहीं, सड़कों पर बह रहा पानी खेतों को भी काफी नुकसान पहुंचाते हैं।

लोनिवि के जिम्मे है सड़क

वहीं, सड़कों पर बड़े बड़े गड्ढों तथा दलदल के चलते यहां छोटे बड़े और दोपहिया वाहन चालकों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। काफी लम्बे समय से नालियों का निर्माण नहीं हो पाने के कारण लोगों को रोजाना समस्याओं से दो-चार होना पड़ता है। बरसात के मौसम में तो सड़क पर वाहन चलाना और पैदल चलना भी दूभर हो गया है।

सरकार द्वारा लोगों की सुविधा के लिए एक ओर जहां करोड़ों रुपए खर्च करके गांव-गांव तक सड़क पहुंचाई जा रही है। वहीं, दूसरी ओर विभागीय उदासीनता और लापरवाही के कारण तीर्थन घाटी की सड़कें बदहाली आंसू रो रही है। बता दें कि घाटी की सड़कों के रखरखाव और सौंदर्यकरण की जिम्मेवारी लोक निर्माण विभाग की है। ग्रामीणों ने भी कई दफा विभाग से सड़क मरम्मत की गुहार लगाई है, लेकिन बदले में महज उन्हें आश्वासन मिला है।

प्रशासन नहीं ले रहा सुध

मामले पर ग्राम पंचायत मश्यार की प्रधान शांता देवी और तुंग वार्ड की समिती सदस्य कमला देवी का कहना है कि पिछले दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण तीर्थन घाटी को जोड़ने वाली मुख्य सड़क बंजार से बठाहड, देहुरी से शनाड सड़क मार्ग, नगलाड़ी से शर्ची सड़क मार्ग, गुशैनी से पेखड्डी सड़क, गुशैनी से तिंदर सड़क और अन्य सभी सड़कें जर्जर हो चुकी है। आए दिन इन सड़कों पर हादसों का अंदेशा बना रहता है। उन्होंने बताया कि कई बार अधिकारिओं को इस समस्या बारे अवगत करवाया गया, लेकिन इसके बावजूद भी इन सड़कों की सुध नहीं ली जा रही है। जिस कारण क्षेत्र की जनता में भारी रोष व्याप्त है। इन्होंने सरकार से मांग की है कि तीर्थन घाटी की बदहाल सड़कों और पुलों का समय रहते उचित रखरखाव किया जाए।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है