Covid-19 Update

3,12, 188
मामले (हिमाचल)
3, 07, 820
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,583,360
मामले (भारत)
622,055,597
मामले (दुनिया)

हिमाचल का पहला सौर संचालित कूड़ा संयंत्र इस जिला में लगाया, हर घर भूमिगत नालियों से जोड़ा

ऊना के अजौली में लगाया कूड़ा संयंत्रए गीले और सूखे कूड़े का होगा निस्तारण लोगों को मिलेगा फायदा

हिमाचल का पहला सौर संचालित कूड़ा संयंत्र इस जिला में लगाया, हर घर भूमिगत नालियों से जोड़ा

- Advertisement -

ऊना। सौर संचालित कूड़ा संयंत्र प्लांट (Solar Powered Garbage Plant Plant) स्थापित करने वाला ऊना हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) का पहला जिला बन गया है। ग्राम पंचायत अजौली में ऊना विधानसभा की ग्राम पंचायत अजौली में 12.49 लाख रुपए से 32 किलो वाट क्षमता वाला कूड़ा संयंत्र स्थापित किया गया है। यह कूड़ा संयंत्र रूफ टॉप सोलर प्लांट (Roof Top Solar Plant) से संचालित होगा। इससे लगभग तीन हजार लोगों को फायदा मिलेगा। वहीं इस संबंध में विकास खंड अधिकारी ऊना रमनबीर (Development Block Officer Una Ramanbir) ने बताया कि अजौली में ठोस एवं तरल कूड़े के प्रबंधन के लिए हर घर को भूमिगत नालियों से जोड़ा गया है, ताकि तरल कूड़े का निस्तारण (Liquid Waste Disposal) हो सके। वहीं ठोस कूड़े के लिए पंचायत में दो-दो डिब्बे उपलब्ध करवाए गए हैं। इनमें कूड़े को अलग करके छोटे वाहनों के माध्यम से कूड़ा संयंत्र तक पहुंचाया जाता है।

यह भी पढ़ें:कैबिनेट बैठक: मुख्‍यमंत्री शोध प्रोत्‍साहन योजना को मिली मंजूरी, सोलन में खुलेगा ट्रांसपोर्ट नगर

यहां इंसनिरेटर और प्लास्टिक श्रेडर लगाया गया है। साथ ही प्लांट में 500 किलो क्षमता का कम्पोस्टर भी लगाया गया है, जिसमें पंचायत से एकत्रित कूड़े को डाल कर खाद तैयार की जाती है। कूड़ा संयंत्र प्लांट से बनने वाली खाद को सीएसके पालमपुर (CSK Palampur) से प्रमाणित किया गया हैए जिसमें एनपीके कंपोनेंट उच्च गुणवत्ता के पाए गए हैं। इसके अलावा सैनेटरी नैपकिन को इंसनिरेटर और प्लास्टिक कूडे़ के लिए श्रेडर लगाया गया है। रमनबीर कूड़ा संयंत्र प्लांट को रूफ टॉप सोलर प्लांट के माध्यम से संचालित करने से महीने में 12.15 हजार रुपए की बिजली की बचत होगी।


वहीं ग्राम पंचायत अजौली के प्रधान संदीप कपिला ने बताया कि पंचायत घर में ही ठोस कचरा प्रबंधन प्लांट लगाया गया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में 5 किलो और 10 किलो की पैकिंग में खाद उपलब्ध है। स्थानीय किसान व बागवान कूड़ा संयंत्र से निर्मित खाद का प्रयोग कर लाभान्वित हो रहे हैं। पहले कूड़ा संयंत्र को चलाने के लिए बिजली की लागत 12.13 हजार रुपए प्रतिमाह आती थी, लेकिन सोलर प्लांट (Solar Plant) लगने से इस धनराशि की बचत हो रही है तथा पंचायत को कूड़ा संयंत्र के संचालन में अच्छी सुविधा मिल रही है। इसके लिए संदीप कपिला ने जिला प्रसाशन ऊना और प्रदेश सरकार का धन्यवाद किया।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है