Covid-19 Update

2,27,405
मामले (हिमाचल)
2,22,756
मरीज ठीक हुए
3,835
मौत
34,615,757
मामले (भारत)
264,798,834
मामले (दुनिया)

केरल में वैक्सीनेटेड लोग भी हो रहे कोरोना के शिकार, खतरे का संकेत?

यूरोप में बीते एक हफ्ते में 20 लाख से अधिक केस दर्ज किए गए

केरल में वैक्सीनेटेड लोग भी हो रहे कोरोना के शिकार, खतरे का संकेत?

- Advertisement -

त्रिवेंद्रम। देश में भले ही 287 दिन बाद कोरोना (Corona) के सबसे कम मामले दर्ज किए गए हों, लेकिन चिंता की लकीरें अभी तक मिटी नहीं है। इसकी वजहें एक बार फिर दक्षिणी राज्य से सामने आ रही है। करेल में कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके यानी वैक्सीनेटेड लोग भी कोरोना के चपेट में आ रहे हैं। केरल में प्रतिदिन दर्ज किए जा रहे केस में करीब 40 फीसदी ऐसे मामले हैं, जिन्हें कोरोना की दोनों डोज लगाई जा चुकी थी। उसके बाद भी लोग कोरोना के शिकार हो रहे हैं।

क्या होता है ब्रेकथ्रू? क्यों है यह चिंता की बात

ब्रेकथ्रू इंफेक्शन का मतलब पूरी तरह से वैक्सीनेटेड होने के बाद भी कोरोना से संक्रमित हो जाना। जिस तरह केरल में ब्रेकथ्रू केसेस बढ़ रहे हैं, उसी तरह यूरोप (Europe) के भी कई देश नए केसेस से परेशान हैं। यूरोप में कोरोना रोज नए रिकॉर्ड तोड़ रहा है। यूरोप व एशिया में कोरोना की तीसरी लहर की आहट हमारे लिए चिंता का कारण है। भारत में कोरोना की शुरआत केरल से ही हुई थी। वहां वैक्सीनेशन की रफ्तार भी अन्य राज्यों की तुलना में अधिक है। पर वैक्सीनेशन के बाद भी केरल में लोग बड़ी मात्रा में संक्रमित हो रहे हैं। ऐसे में संभव है कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन के बाद सरकार को बूस्टर डोज अभियान भी शुरु करना पड़े।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में कोरोना पर लगेगी लगाम, स्वास्थ्य विभाग पंचायत स्तर पर करेगा कुछ ऐसा; जाने

40 फीसदी मामले ब्रेकथ्रू के 

हालांकि, देश भर के साथ साथ केरल में भी कोरोना की रफ्तार धीमी जरूर हुई है। लेकिन अभी भी पूरे देश में सबसे ज्यादा केस केरल में ही आ रहे हैं। केरल में पिछले एक हफ्ते से रोजाना औसतन 6,600 नए केस सामने आ रहे हैं। चिंता की बात ये है कि कुल केस में करीब 40% मामले ब्रेकथ्रू इंफेक्शन के है। जबकि राज्य की 95% आबादी को वैक्सीन का सिंगल डोज और 60% को दोनों डोज लग चुके हैं।

20 लाख से अधिक केस दर्ज 

वहीं, बीते एक हफ्ते में यूरोप में कोरोना के 20 लाख से अधिक केस दर्ज किए गए हैं। व कोरोना की वजह से हो रही कुल मौतें में से करीब आधी मौतें यूरोपीयन देशों में हो रही हैं। साथ ही कुल केस के 60% केस यूरोप में सामने आ रहे हैं। कोरोना केस उन देशों में भी बढ़ रहे हैं, जहां कि लगभग आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेटेड हो गई हैं। जर्मनी में 10 नवंबर को 51 हजार नए केस मिले हैं, ये अब तक एक दिन में मिले सबसे ज्यादा केस हैं। जबकि, जर्मनी की 67% आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट हो चुकी है। इसी तरह ब्रिटेन में भी हर रोज औसतन 37 हजार नए केसेस आ रहे हैं, जबकि ब्रिटेन की 68% आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट हो चुकी है।

जानकारों ने सरकार को दी चेतावनी 

कोरोना से निपटने के लिए केरल सरकार द्वारा बनाए गए एक्सपर्ट ग्रुप के डॉक्टर अनीश टीएस ने भी केरल सरकार को चेताया है। इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा है कि महामारी विज्ञान की दृष्टि से केरल और यूरोप में कई समानताएं हैं। वहां अगर केस बढ़ रहे हैं, तो आशंका है कि केरल में भी केस बढ़ सकते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है