Covid-19 Update

2,63,113
मामले (हिमाचल)
2,45, 890
मरीज ठीक हुए
3936*
मौत
40,085,116
मामले (भारत)
359,251,319
मामले (दुनिया)

वेटलॉस के लिए क्या है बेस्ट- गेहूं या मल्टीग्रेन रोटी

मल्टीग्रेन में 12 विभिन्न प्रकार के अनाज हो सकते हैं

वेटलॉस के लिए क्या है बेस्ट- गेहूं या मल्टीग्रेन रोटी

- Advertisement -

कोरोना के इस दौरान में लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर काफी सजग हो गए हैं। साथ में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो वजन कम करने के चक्कर में खाना तक छोड़ देते हैं। लेकिन सभी को एक बात ध्यान में रखी चाहिए कि खाना छोड़ने से वजन कम नहीं होता इससे आप शारीरिक रूप से कमजोर होंगे। वजन कम करने के लिए आपको खानपान का सही शेड्यूल फॉलो करना होता है और नियमित रूप से व्यायाम व सैर करने से आप हेल्दी तो रहेंगे ही साथ ही आपका वजन भी कंट्रोल में रहेगा। वेट लॉस के लिए रोटी खाने की बात करें तो कई लोग गेहूं की रोटी और मल्टीग्रेन रोटी में से क्या अधिक फायदेमंद है इस के बीच में चयन को लेकर कंफ्यूज रहते हैं। चलिए आप की दुविधा को हल करते हुए आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें:वजन कम करने में मदद करेंगे ये मॉर्निंग मील्स, पढ़ें बनाने का आसान तरीका

गेहूं के आटे में भी कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए जरूरी होते हैं। गेहूं के आटे से बनी रोटियों में जिंक, आयरन, मैगनीज, सल्फर और कॉपर होता है। ये सभी तत्व सेहत के लिए जरूरी होते हैं। चने के आटे से बनी रोटियां खाना भी सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। गेहूं शरीर के लिए फायदेमंद होता है क्योंकि यह हृदय रोग को रोकने में मदद कर सकता है, टाइप 2 मधुमेह के खतरे को कम कर सकता है और विशेष रूप से कोलन कैंसर में कुछ कैंसर की संभावना को कम कर सकता है।साबुत गेहूं ओमेगा -3 फैटी एसिड, विटामिन बी और फाइबर से भरपूर होता है। फाइबर ने व्यक्तियों को वजन कम करने में मदद करने के लिए दिखाया है।

यह भी पढ़ें:हेल्दी व फिट रहने के लिए अपने नाश्ते में शामिल करें ये सुपरफूड

मल्टीग्रेन एक ऐसे भोजन को संदर्भित करता है जिसमें एक से अधिक प्रकार के अनाज होते हैं। मल्टीग्रेन खाद्य पदार्थों में शामिल आम अनाज में जई, एक प्रकार का अनाज, फटा गेहूं, सन और बाजरा शामिल हैं। जबकि कुछ मल्टीग्रेन खाद्य पदार्थों में साबुत अनाज सामग्री शामिल हो सकती है। मल्टीग्रेन खाद्य पदार्थों में अक्सर तीन से पांच अलग-अलग प्रकार के अनाज होते हैं लेकिन इनमें 12 विभिन्न प्रकार के अनाज हो सकते हैं। मल्टीग्रेन फ़ूड के अपने स्वास्थ्य लाभों को अधिकतम करने के लिए, फ़ूड लेबल को देखें और सुनिश्चित करें कि सभी अनाजों में ‘संपूर्ण’ शब्द शामिल हो। यह सुनिश्चित करता है कि इस भोजन में अनाज सभी साबुत अनाज हैं। यह देखने का एक त्वरित तरीका है कि भोजन में परिष्कृत अनाज है या नहीं, सामग्री सूची के शीर्ष के पास ‘समृद्ध गेहूं का आटा’ शब्दों को देखना है। इसका मतलब यह होगा कि मल्टीग्रेन भोजन पूरी तरह से साबुत अनाज से नहीं बना होता है और साबुत अनाज वाले खाद्य पदार्थों की तुलना में इसके सीमित स्वास्थ्य लाभ होते हैं। सावधान रहें कि कई मल्टीग्रेन खाद्य पदार्थों में समृद्ध गेहूं के आटे की महत्वपूर्ण मात्रा में कई साबुत अनाज की थोड़ी मात्रा शामिल होती है।मल्टीग्रेन खाद्य पदार्थों के सामान्य स्रोतों में ब्रेड, ठंडे अनाज, गर्म अनाज, टॉर्टिला, रोल, वफ़ल, चिप्स पटाखे और बेकिंग आटा शामिल हैं।

यह भी पढ़ें:दिन की शुरुआत के लिए इन हेल्दी ब्रेकफास्ट से बेहतर कुछ और नहीं

वेट लॉस करने के लिए चना, ज्वार, बाजरा जैसे विभिन्न अनाज से बनी रोटियों का सेवन करना फायदेमंद होता है। मल्टीग्रेन आटे में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर होता है, जो लंबे समय तक भूख का अहसास नहीं होने देता है। इससे पेटा भरा रहता है, आप ओवरइटिंग करने से बचते हैं। वयस्क एक दिन में कम से कम 3 एक औंस साबुत अनाज खाएं। यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ़ एग्रीकल्चर कहता है कि महिलाओं को एक दिन में कम से कम 3 ऑउंस खाना चाहिए और महिलाओं को प्रतिदिन 6 ऑउंस तक साबुत अनाज लेने की सलाह दी जाती है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है