Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

अलर्ट: धरती का तापमान 40 फीसदी तक बढ़ेगा, दुनियाभर की आबादी खाने को तरसेगी

अलर्ट: धरती का तापमान 40 फीसदी तक बढ़ेगा, दुनियाभर की आबादी खाने को तरसेगी

- Advertisement -

कोरोना काल की तबाही से जूझ रही दुनिया को वैज्ञानिकों की चेतावनी और ज्यादा डरा देने वाली है। इस चेतावनी में कोरोना की बात नहीं बल्कि तापमान की बात कही जा रही है। कहा गया है कि अगले पांच साल में (Temperature of the Earth) धरती का तापमान 40 फीसदी बढ़ सकता है। इससे गर्मी के आज तक के सारे रिकॉर्ड टूट जाएंगे। ये चेतावनी विश्व मौसम विज्ञान संगठन (WMO) ने जारी की है। चेतावनी में कहा गया है कि 2025 सबसे गर्म साल होने का रिकॉर्ड तोड़ देगा। इसके लिए यह संगठन 90 प्रतिशत का पुख्ता होने का दावा कर रहा है। इसके अलावा (Hurricane-in the Atlantic Ocean) अटलांटिक महासागर में भयावह स्तर के हरिकेन आने की आशंका भी जताई गई है।

यह भी पढ़ें: ये है वो नदी जो पहाड़ों से निकलकर समुद्र में नहीं मिलती-पानी हो जाता है विलुप्त

डब्ल्यूएमओ की चेतावनी का मतलब साफ है कि सभी देशों और उनकी सरकारों को पर्यावरण और धरती को बचाने के लिए सख्त कदम उठाने होंगे। ये बात तो पक्का है कि अगले पांच साल में से कोई एक या दो साल ऐसा होगा जो औसत तापमान से 1.5 डिग्री सेल्सियस ज्यादा गर्म (Warmer than Average Temperature) होगा। डब्ल्यूएमओ के सेक्रेटरी जनरल प्रोफेसर पेटेरी टालस ने कहा कि ये सिर्फ आंकड़े नहीं हैं ये उससे कहीं ज्यादा है। लगातार बढ़ रहे तापमान की वजह से बर्फ पिघल रही है समुद्री जलस्तर में इजाफा हो रहा है। ज्यादा हीट वेव्स देखने को मिल रही है। इसकी वजह से दुनिया भर की आबादी खाने के लिए तरसेगी। खाना (Food) ,सेहत, पर्यावरण और सतत विकास इन चारों पर इसका व्यापक असर पड़ेगा।


यह भी पढ़ें: यहां चाहकर भी नहीं पाल सकते हैं बिल्ली-वरना होता है कुछ ऐसा,सोचा भी नहीं होगा

डब्ल्यूएमओ की भविष्यवाणी में कहा गया है कि धरती के उत्तरी गोलार्ध पर मौजूद देशों का तापमान 0.8 डिग्री सेल्सियस बढेगा। यानी धरती के उत्तरी गोलार्ध (Northern Hemisphere) के देश जिसमें अधिकतर महाद्वीप आ जाते हैं वो इस साल औसत से ज्यादा तापमान सहन करेंगे। डब्ल्यूएमओ ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि अगले पांच वर्षों (Next Five Years) में से किसी एक साल का तापमान औद्योगिक काल की तुलना में 1.5 डिग्री सेल्सियस ज्यादा रहेगा। इस समय दुनिया औद्योगिक काल की तुलना में 1.2 डिग्री सेल्सियस ज्यादा गर्म है। पिछले साल इसी संगठन ने 40 फीसदी के बजाए 20 फीसदी ज्यादा गर्म होने की भविष्यवाणी की थी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है