Covid-19 Update

1,98,313
मामले (हिमाचल)
1,89,522
मरीज ठीक हुए
3,368
मौत
29,419,405
मामले (भारत)
176,212,172
मामले (दुनिया)
×

कोरोना काल में हर दिन फ्रंट पर रहा ये योद्धा, वीडियो स्टोरी में देखें क्या कमाल का है जज्बा

दिनेश बन्याल के लिए नहीं संडे मंडे के कोई भी मायने, पहले दिन से लेकर कर रहे कोविड सेंपलिंग

कोरोना काल में हर दिन फ्रंट पर रहा ये योद्धा, वीडियो स्टोरी में देखें क्या कमाल का है जज्बा

- Advertisement -

ऊना। दुनिया भर में फैली महामारी कोविड-19 (Covid-19) के बीच जहां लोग खुद को और अपने परिवार को सुरक्षा देने के लिए घरों में दुबक कर बैठने को मजबूर हो रहे हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग में सेवाएं देने वाले कुछ ऐसे भी रियल हीरो है जो निजी जीवन के साथ साथ परिवार को भी दरकिनार करते हुए रोजाना फ्रंट लाइन पर रहकर काम कर रहे हैं। यह ऐसे फ्रंटलाइन योद्धा है जो फर्ज को अंजाम देते हुए सबसे अधिक जोखिम के साए में रहते हैं। यह ऐसे (Frontline Worker) फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं, जिनके लिए सरकारी सेवा में होने के बावजूद संडे मंडे या किसी भी राजपत्रित अवकाश के कोई मायने नहीं रह जाते हैं। हम बात कर रहे हैं स्वास्थ्य विभाग की लेबोरेटरी में (Senior Lab Technician) सीनियर लैब टेक्नीशियन के पद पर कार्यरत दिनेश सिंह बन्याल (Dinesh Singh Banyal) की। साल 2020 में 31 मार्च के दिन दिनेश सिंह ने जिला के नकड़ोह की मस्जिद में सबसे पहले सैंपल लिए थे। इसी पहले दिन से लेकर आज दिन तक दिनेश सिंह बिना कोई छुट्टी किए लगातार अस्पताल आ रहे हैं और रोजाना दर्जनों लोगों के (Sample) सैंपल जांच के लिए जुटा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: Big Breaking : ब्लैक फंगस ने हिमाचल में ली दो की जान-आईजीएमसी में थे भर्ती


खुद दिनेश बन्याल कहते हैं कि इन परिस्थितियों में यही उनका कर्तव्य है, इस समय संपूर्ण समाज उन्हें अपने परिवार के रूप में दिखाई देता है। वर्तमान परिस्थितियों में हर व्यक्ति मुश्किल में है और यदि मुश्किल स्वास्थ्य संबंधी हो तो मुश्किल में घिरे व्यक्ति की मदद करना मेरा परम कर्तव्य है। बायोकेमिस्ट्री में पोस्ट ग्रेजुएट कर चुके दिनेश सिंह बन्याल के बारे में एक अन्य रोचक तथ्य भी है कि उनके अस्पताल में आने या जाने की कोई समय सीमा नहीं है, दिन हो या रात जब भी अस्पताल में किसी रोगी का कोरोना वायरस की जांच के लिए सैंपल जुटाने की जरूरत होती है तो यही दिनेश सिंह बन्याल एक फरिश्ते की तरह तुरंत प्रकट हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल के बहुचर्चित गुड़िया रेप-मर्डर केस की सुनवाई 3 जून तक टली,सजा पर होना हैं अंतिम फैसला

दिनेश सिंह के परिवार के लोग भी उनके फर्ज की राहों में कभी कोई बाधा खड़ी नहीं करते। बल्कि कोरोना वायरस काल के पहले दिल से लेकर आज दिन तक उन्हें परिवार से केवल मात्र प्रोत्साहन ही मिला है। इसी प्रोत्साहन के दम पर वह हर दिन अपने फर्ज को बखूबी अंजाम देकर अन्य लोगों के लिए भी एक मिसाल कायम कर रहे हैं। सीएमओ ऊना,(CMO Una) डॉ. रमन शर्मा ने कहा कि कोरोना काल के शुरू से ही दिनेश बन्याल इस क्षेत्र में बेहतर सेवाएं दे रहे है। उन्होंने कहा कि दिनेश सिंह बन्याल बहुत ही मेहनत और लगन से अपने कार्य को अंजाम देते है और इस कोरोना काल में उन्होंने एक दिन भी छुट्टी नहीं की है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है