हिमाचल में भारत-पाक युद्ध का 51वां विजय दिवस समारोह, शहीदों को दी श्रद्धांजलि

मंडी शहर के संकन गार्डन में स्थित युद्ध स्मारक में मनाया गया विजय दिवस

हिमाचल में भारत-पाक युद्ध का 51वां विजय दिवस समारोह, शहीदों को दी श्रद्धांजलि

- Advertisement -

मंडी। हिमाचल में शुक्रवार को भारत-पाक युद्ध (Indo-Pak war) का 51वां विजय दिवस समारोह (51st Victory Day Celebration) मनाया गया। इस दौरान शहीदों को याद किया गया और उन्हें श्रद्धाजंलि दी गई (Tribute Paid)। इस विजय दिवस पर वीर नारियों को भी सम्मानित किया गया। इसी कड़ी में मंडी जिला में विजय दिवस समारोह पूर्व सैनिक लीग, हिप्र डिफेंस विमेन वेलफेयर एसोसिएशन व सैनिक कल्याण विभाग द्वारा शहर के संकन गार्डन में स्थित युद्ध स्मारक में मनाया गया।


यह भी पढ़ें:एक्शन में ये MLA, खोखा धारकों को पक्की दुकानें, पार्किंग को जगह चयनित करने के दिए आदेश

इस मौके पर रिटायर ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर,चेयरमेन एक्स सर्विसेज लीग रिटायर्ड कर्नल प्रताप सिंह विशेष रूप से मौजूद रहे। पूर्व सैनिकों व वीर नारियों नै इस मौके पर दो मिनट का मौन रखकर 1971 भारत-पाक युद्ध में शहादत का जाम पीकर सर्वोच्च बलिदान देने वाले शहीदों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

Victory-Day-Celebration

Victory-Day-Celebration

विजय दिवस पर वीर नारियों को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर रिटायर्ड ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर (Retired Brigadier Khushal Thakur) ने शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि यह युद्ध 3 दिसंबर से 16 दिसंबर 1971 तक चला था। 14 दिन के इस युद्ध में भारतीय सेना पूर्ण तैयारी व प्लानिंग के साथ उतरी थी। उन्होंने कहा कि भारत की ओर से पूर्वी कमान के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल जेएफआर जैकव की इस युद्ध में बहुत बड़ी भूमिका रही थी। मेजर जनरल जैकव ने पाकिस्तान के लेफ्टिनेंट जनरल एएके नियांजी को हथियार डालने पर मजबूर कर 16 दिसंबर 1971 को पूर्वी पाकिस्तान को आजाद करवाया, जो आज बांग्लादेश के नाम से जाना जाता है।

Victory-Day-Celebration

Victory-Day-Celebration

मंडी जिला के 21 शूरवीर हुए थे शहीद

गौरतलब है कि इस युद्ध में देश के 3843 शूरवीरों ने शहादत का जाम पिया था और 9851 सैनिक (soldier) घायल हुए थे। प्रदेश के 190 सैनिकों ने इस युद्ध में अपने प्राणों की आहुति दी है, जिनमें मंडी (Mandi) जिला के 21 शूरवीर शामिल थे। इस युद्ध में सेना की पूर्वी कमान के आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल जगजीत सिंह अरोड़ा के सामने पाकिस्तान के लेफ्टिनेंट जनरल एएके नियांजी ने लगभग 93 हजार सैनिकों के साथ आत्मसमर्पण किया था। उसी दिन से हर वर्ष 16 दिसंबर को भारत-पाक युद्ध विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है।संकन गार्डन में इस मौके पर शहीदों के परिजन, पूर्व सैनिक लीग, हिमाचल वूमन डिफेंस वेलफेयर एसोसिएशन व दर्जनों पूर्व सैनिक मौजूद रहे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है