Covid-19 Update

2, 85, 044
मामले (हिमाचल)
2, 80, 865
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,148,500
मामले (भारत)
531,112,840
मामले (दुनिया)

नालागढ़ में मेला आयोजकों पर केस, रिवेन्यू एक्ट के तहत होगी कार्रवाई

 पीरस्थान लोहड़ी मेले से हटवाईं दुकानें, मेला स्थल करवाया खाली

नालागढ़ में मेला आयोजकों पर केस, रिवेन्यू एक्ट के तहत होगी कार्रवाई

- Advertisement -

सोलन। उमंग फाउंडेशन (Umang Foundation) की शिकायत के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है। नालागढ़ के ऐतिहासिक पीरस्थान लोहड़ी मेले (Pirsthan Lohri Fair) में भीड़ जुटने पर प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है। निजी भूमि पर मेला सजाने की इजाजत देने वालों पर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट (Disaster Management Act) के तहत मामला दर्ज कर लिया है और वहीं रिवेन्यू एक्ट में भी कार्रवाई करने के तहसीलदार को निर्देश दिए गए हैं। रविवार को एसडीएम (SDM) नालागढ़ की अगवाई में डीएसपी, तहसीलदारए नायब तहसीलदार, एसएचओ और एनडीआरएफ (NDRF) की टुकड़ी ने मेला स्थल का दौरा कर कार्रवाई की। टीम ने मेले में बिना अनुमति सजी दुकानों को हटवाया और मेला स्थल खाली करवाया।

यह भी पढ़ें:सोलन प्रशासन ने खुद उड़ाईं कोरोना नियमों की धज्जियां, मेले को दी मंजूरी, हजारों की भीड़ उमड़ी

मेला समिति को नोटिस जारी करके उनसे जवाब मांगा गया है। प्रशासन के मुताबिक मेला स्थल पर दुकानें लगवाने वाले भूमि मालिकों का राजस्व रिकार्ड से नाम हटाने की सिफारिश का भी जिला प्रशासन को पत्र लिखा गया है। प्रशासन द्वारा कोविड (Covid) के चलते मेला न लगाने के आदेश जारी किए गए थे, इसके बावजूद मेला लगाकर यहां भीड़ जुटाई गई। यहां पर प्रतिबंध के बावजूद तीन दिन से मेला सज रहा था। मेले में झूले व दुकानें सजाई गई थीं। नालागढ़ (Nalagarh)  के एसडीएम महेंद्र पाल गुर्जर, तहसीलदार ऋषभ शर्मा, डीएसपी (DSP) अमित यादव, थाना प्रभारी श्याम लाल सुबह से ही मेला स्थल पर पहुंच गए और एनडीआरएफ बटालियन की मदद से मेला स्थल को खाली करवाया।

मेला समिति के प्रधान पम्मी डाडी ने बताया कि उन्होंने प्रशासन के आदेश आने से पहले ही मेला न करवाने की घोषणा इंटरनेट मीडिया (Internet Media) व सार्वजनिक रूप से कर दी थी। उनका इससे कोई लेना-देना नहीं है। लखदाता पीर के नाम से ही इस स्थान का नाम पीरस्थान पड़ा है और यह मेला दून व नालागढ़ विधानसभा क्षेत्र का सबसे बड़ा मेला होता है। मेले में पंजाब,  हरियाणा,  चंडीगढ़ से लोग यहां पहुंचते हैं। एसडीएम महेंद्र पाल गुर्जर ने बताया कि मेला स्थल को खाली करवा दिया गया है। इसमें पुलिस व एनडीआरएफ बटालियन की सहायता ली गई। मेला करवाने वाले निजी भू-मालिकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है