Covid-19 Update

59,059
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,210,799
मामले (भारत)
117,078,869
मामले (दुनिया)

रास्ता रोकने वालों को मार्कंडेय की चेतावनी- हमारी शराफत को कमज़ोरी न समझे

रास्ता रोकने वालों को मार्कंडेय की चेतावनी- हमारी शराफत को कमज़ोरी न समझे

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश के दुर्गम जिले लाहुल स्पीति में कृषि मंत्री डॉ. रामलाल मार्कंडेय ( Agriculture Minister Dr. Ramlal Markanda) का काफिला रोकने वाली घटना पूरी तरह से राजनीतिक रूप ले चुकी है। जहां कांग्रेस प्रदर्शन कर रही महिलाओं के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर ( FIR) वापस लेने की मांग कर रही है वहीं मार्कंडेय काफिला रोकने की घटना के आंदोलनकारियों को माफी देने के हक में नहीं है। इस संबंध में मार्कंडेय ने कहा कि हमारी शराफत को कमज़ोरी न समझे ,साथ ही चेतावनी भी दी है कि कांग्रेस नेता ( Condress Leaders) घाटी की भोली-भाली महिलाओं को भ्रमित कर लोगों का नुकसान न करे।


मंत्री ने स्पष्ट किया कि प्रदर्शनकारियों में से सिर्फ दो लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है बाकी लोगों को कार्रवाई में शामिल नहीं किया गया है। लेकिन साजिश रचने वाले शरीफ और गरीब लोगों को घाटी में भड़काने का काम कर रहे है। कृषि मंत्री ने कहा कि उनके काफिले को रोकना कांग्रेस का प्रायोजित प्रदर्शन था। क्वारंटाइन के नाम पर हिमाचल सरकार के एक जिम्मेदार मंत्री के खिलाफ षड्यंत्र के तहत अपने ही लोगों को भड़काना सियासत में हताशा को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि यह कांग्रेसियों की घटिया राजनीति है।


जाहिर है हिमाचल प्रदेश के कबायली क्षेत्र लाहुल घाटी ने स्थानीय विधायक और सरकार में कृषि मंत्री रामलाल मार्कंडेय का रास्ता रोकने के बाद शुरू हुआ गतिरोध पूरी तरह से सियासी बन गया है। घाटी में महिलाओं का क्वारंटाइन के नाम पर मन्त्री को घाटी में जाने से रोकने पर हुई पुलिस कार्रवाई को कृषि मंत्री कानूनी के तहत की गई कार्रवाई बता रहे हैं। मार्कंडेय ने कहा कि रास्ता रोकने के दौरान वहां पर जो हालात बन रहे थे, उसके बाद वहां से लोगों की भावना को देखते हुए उन्होंने वापस लौटना मुनासिब समझा । लेकिन कांग्रेस शुरू से ही मसले पर राजनीति कर रही है और अब इसे लोगों को भड़काने का काम कर रहें है। कृषि मंत्री ने घाटी के लोगों से अपील की है कि कांग्रेस की इस गंदी राजनीति का शिकार होने से बचे और मामले को राजनीतिक तूल न दें। डॉ मार्कंडेय ने कहा कि उन्होंने अपने लोगों के खिलाफ किसी तरह की कोई दुर्भावना के तहत कार्रवाई नही की लेकिन अब जिस तरह से मामले में राजनीति की जा रही है उसे देखते हुए मंत्री इस मामले में दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है