Covid-19 Update

3,07, 628
मामले (हिमाचल)
300, 492
मरीज ठीक हुए
4164
मौत
44,253,464
मामले (भारत)
594,993,209
मामले (दुनिया)

एएनएम हेल्थ वर्कर का फूटा गुस्सा तो उल्टे पैर भागी बीजेपी नेता नीलम सरैइक

सीटीओ चौक पर पर हुआ था आमना- सामना

एएनएम हेल्थ वर्कर का फूटा गुस्सा तो उल्टे पैर भागी बीजेपी नेता नीलम सरैइक

- Advertisement -

शिमला। राजधानी शिमला के सीटीओ चौक पर आज उस समय गहमागहमी हो गई, जब गुड़िया प्रकरण को लेकर नारेबाजी कर रही बीजेपी महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं को एएनएम फीमेल हेल्थ वर्कर ने घेर लिया। बीजेपी महिला मोर्चा की कार्यकर्ता नीलम सरैइक की अगुवाई में हिमाचल कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह के बयान का विरोध कर रही थी। तभी वहां 3 दिनों से क्रमिक अनशन पर बैठे फीमेल हेल्थ वर्कर्स पहुंच गई। इस दौरान हेल्थ वर्करों ने महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं से रोजगार के बारे में सवाल पूछा। उन्होंने कहा कि बीते 20 साल से सरकारी आती-जाती रही हैं, लेकिन एएनएम नर्सों के लिए कोई स्थाई नीति नहीं बनाई जाती। इस पर नीलम सरैइक ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन एएनएम नर्स मानो मन बना कर आई थी कि किसी भी हाल में महिला मोर्चा को छोड़ने वाली नहीं हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: फीमेल हेल्थ वर्कर्स ने अनशन किया शुरू, विस चुनाव बहिष्कार करने की दी चेतावनी

मामला बढ़ता देख नीलम सरैइक ने वहां से खिसकने में भलाई समझी। मौके पर हंगामा करते हुए एएनएम नर्स ने कहा कि अपने छोटे-छोटे बच्चों को छोड़कर शिमला में प्रदर्शन करने के लिए मजबूर हैं। कोरोना काल में भी नर्सों ने पूरी मेहनत के साथ काम किया, लेकिन सरकार केवल आश्वासन ही देती है। बीते करीब 20 साल से हेल्थ वर्कर स्थाई नीति की मांग कर रहे हैं लेकिन ना तो बीजेपी सरकार और ना ही कांग्रेस सरकार नीति बना रही है। हालांकि बीजेपी महिला मोर्चा की अन्य कार्यकर्ताओं ने हेल्थ वर्करों को आश्वासन दिया कि वे सीएम जयराम ठाकुर के पास मांगों को लेकर जाएंगी और एएनएम नर्सों के लिए स्थाई नीति बनाने की मांग करेंगे।

गौरतलब है कि साल के अंत में हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव में प्रदेश सरकार लगभग हर वर्ग को राहत देने का काम कर रही है। ऐसे में राहत की मांग कर रहे तमाम वर्ग यह चाहते हैं कि जल्द से जल्द सरकार उनके लिए भी नीति निर्माण करें। सरकार भी चुनावी साल में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। ऐसे में एएनएम फीमेल हेल्थ वर्करों को भी यह उम्मीद है कि सरकार जल्द ही उनके लिए कोई नीति बना देगी।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है