Covid-19 Update

2,86,061
मामले (हिमाचल)
2,81,413
मरीज ठीक हुए
4122
मौत
43,452,164
मामले (भारत)
551,819,640
मामले (दुनिया)

चचेरी बहन की मौत का दुख नहीं झेल पाया भाई, चिता पर लेट कर दे दी जान

430 किलोमीटर बाइक चलाकर पहुंचा श्मशान घाट

चचेरी बहन की मौत का दुख नहीं झेल पाया भाई, चिता पर लेट कर दे दी जान

- Advertisement -

मध्यप्रदेश के सागर (Sagar) से एक अनोखा मामला सामने आया है। यहां मझगुवां गांव में एक युवक ने चचेरी बहन की चिता पर लेटकर अपनी जान दे दी है। इस मामले में हैरान करने वाली बात ये है कि बहन की मौत की खबर मिलते ही वो 430 किलोमीटर दूर धार से सीधे श्मशान घाट पहुंच गया।

यह भी पढ़ें- स्टंट कर रहा था स्पाइडर-मैन, हुआ खतरनाक हादसा, देखें वायरल वीडियो

बताया जा रहा है कि उसकी बहन की कुएं में गिरने के कारण मौत हो गई थी। उसके भाई ने जलती चिता को पहले प्रणाम किया और फिर उस पर लेट गया। आग में झुलसने से अस्पताल ले जाते वक्त उसने रास्ते में दम तोड़ दिया। जानकारी के अनुसार, मृतक की बहन ज्योति खेत पर सब्जियां लेने गई थी, लेकिन काफी देर बाद भी वे वापस नहीं लौटी। जिसके बाद उसके परिजनों ने उसकी तलाश जारी कर दी, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला।

वहीं, अगले दिन जब उसके पिता खेत गए तो उन्हें शक हुआ कि कहीं उनकी बेटी कुएं में तो नहीं गिर गई। जिसके बाद उन्होंने कुएं में मोटर लगाकर पानी खाली करवाया। इसके बाद कुएं में ज्योति के कपड़े दिखाई दिए, जिसके बाद उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर ज्योति के शव को कुएं से बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जैसे ही घटना की खबर ज्योति के चचेरे भाई करण ठाकुर को पता चली तो वे बाइक से सागर के लिए निकल गया।

बहेरिया थाना प्रभारी दिव्य प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद ज्योति का शव परिजनों को शुक्रवार को सौंप दिया। इसके बाद परिजनों ने गांव के पास ही के श्मशान घाट में उसका अंतिम संस्कार किया। तब तक करण ठाकुर वहां नहीं पहुंचा था। इसके बाद जब करण वहां पहुंचा तो वे ज्योति की चिता पर लेट गया। जैसे ही गांव वालों ने करण को वहां देखा उन्होंने तुरंत इसकी सूचना परिजनों को दी, लेकिन जब कर परिजन श्मशान घाट पहुंचते 21 वर्षीय करण तब तक बुरी तरह से जल चुका था। इसके बाद परिजन उसे अस्पताल ले गए, लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

वहीं, पुलिस ने कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद करण का शव परिजनों को सौंप दिया। इसके बाद करण के माता-पिता भी मझगांव पहुंचे और फिर उन्होंने रविवार सुबह ज्योति की चिता के पास ही करण का अंतिम संस्कार कर दिया। फिलहाल, पुलिस ने मामला दर्ज आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है